logo
Home Blogs Health Tips ब्लड में बढ़ते क्रिएटिनिन की रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक उपाय

ब्लड में बढ़ते क्रिएटिनिन की रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक उपाय

Dr Pushpa

क्रिएटिनिन और किडनी : Creatinine and Kidney

किडनी की सेहत का क्रिएटिनिन लेवल से सीधा सम्बन्ध है. यदि आपके ब्लड का क्रिएटिनिन लेवल बढ़ा हुआ है तो यह खतरे का संकेत है और आपकी किडनी में खराबी होने की सम्भावना की ओर संकेत करता है.

क्रियेटिन भोजन को ऊर्जा में बदलने में मदद करता है अंततः टूट कर क्रियेटिनन (व्यर्थ पदार्थ ) में तब्दील हो जाता है फिर किडनी इसे रक्त में छान कर यूरिन के माध्यम से बाहर निकाल देता है. आमतौर पर किडनी क्रियेटिनन को छानकर रक्त से बाहर निकाल देती है लेकिन हाइ क्रिएटिनिन लेवल होने पर यह प्रक्रिया बाधित हो जाती है और किडनी के समस्याग्रस्त होने की सम्भावना बन जाती है.

ब्लड में उच्च क्रिएटिनिन स्तर के संभावित कारण : Possible causes of high creatinine level in blood

रक्त में उच्च क्रिएटिनिन स्तर के कई कारण हो सकते हैं -

किडनी की पुरानी बीमारी, कम पानी पीने के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाने के कारण, मांशपेशियों में गंभीर चोट , या बहुत ज्यादा व्यायाम आदि के कारण होता है। इसके अलावा यह परेशानी कार्बन मोनोऑक्साइड विषाक्तता, हाइपोथायरायडिज्म और गर्भवस्था के कारण भी हो सकती है।

ब्लड में बढ़ते क्रिएटिनिन की रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक उपायों के बारे में बता रहे हैं वैद्य अंकुर तंवर -

 

 

READ MORE >>> पुरुष इनफर्टिलिटी की समस्या से बचना चाहते हैं तो इन चीजों से बचे !

मोटापा से बचना है तो भोजन के ये तरीके अपनाएं

आर्थराइटिस का आयुर्वेद द्वारा मैनेजमेंट

आयुर्वेदिक क्षारसूत्र थेरेपी (KSHAR SUTRA Therapy) से बिना चीर-फाड़ के फिस्टुला (Fistula) होगा गायब

बवासीर (PILES) से बचाव के उपाय : डॉ. नवीन चौहान

Book Appointment - https://nirogstreet.com/site/clinic-listing

Latest Videos See All

वैद्य देवेंद्र त्रिगुणा ने प्रधानमंत्री कोष में दिए 10लाख रूपये, कोरोनावायरस से निपटने के लिए पीएम मोदी को सुझाये आयुर्वेदिक उपाय
NirogStreet Desk
वैद्य कुणाल कामठे से जानिये बवासीर, फिस्टुला, फिशर के घरेलू उपाय
NirogStreet Desk
कोरोना वायरस के उपचार में आयुर्वेद की भूमिका !
NirogStreet Desk