Looking for
  • Home
  • Blogs
  • NirogStreet Newsदिल्ली विश्वविद्यालय में आयुर्वेद, यूनानी व होम्योपैथी की पढ़ाई के मार्ग की बाधा ख़त्म , सर्वसम्मति से पास हुआ सिलेबस

दिल्ली विश्वविद्यालय में आयुर्वेद, यूनानी व होम्योपैथी की पढ़ाई के मार्ग की बाधा ख़त्म , सर्वसम्मति से पास हुआ सिलेबस

User

By NS Desk | 20-Feb-2019

दिल्ली विश्वविद्यालय में आयुर्वेद, यूनानी व होम्योपैथी की पढ़ाई का रास्ता साफ हो गया है। शनिवार को डीयू की एग्जीक्यूटिव काउंसिल की आपात बैठक आयोजित हुई। इसमें आयुर्वेद, यूनानी व होम्योपैथी के सिलेबस का प्रस्ताव रखा गया, जिसे सर्वसम्मति से पास कर दिया गया।

डीयू एग्जीक्यूटिव काउंसिल के सदस्य व प्रोफेसर राजेश झा के मुताबिक, आयुर्वेद, यूनानी व होम्योपैथी के सिलेबस का प्रस्ताव रखा गया था, जोकि पास हो गया। अकादमिक काउंसिल में प्रस्ताव पहले ही पास था, इसलिए ईसी में प्रस्ताव पास होने के चलते अब तीनों कोर्स का रुका हुआ रिजल्ट जारी हो जाएगा।

diabe 250 : us patent awarded ayurvedic medicine for diabetes patients

प्रो. झा के मुताबिक, डीयू के नेहरू होम्योपेथी और ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद कॉलेज में 2016-17 में एमडी की पढ़ाई की मंजूरी मिली थी। अकादमिक काउंसिल में प्रस्ताव शुरू होने के चलते पढ़ाई शुरू हो गई थी। इसके बाद वार्षिक परीक्षा भी आयोजित हुई, लेकिन ईसी में सिलेबस पास न होने के चलते रिजल्ट रुक गया था। दो साल से मामला लटका पड़ा था, जिसे ईसी की आपात बैठक में पास किया गया है।

प्रो. झा के मुताबिक, ईसी की बैठक में हमने काउंसिल अध्यक्ष से दो साल तक मामला लटकाने की देरी की जांच के लिए कमेटी गठित करने की मांग रखी। हालांकि अध्यक्ष ने उनकी बात को अनसुना कर दिया। बैठक के दौरान अध्यक्ष से नेहरू होम्योपैथी मामले में अदालत में विश्वविद्यालय प्रशासन ने क्या जवाब दिया था, उसे सार्वजनिक करने की मांग रखी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई, जबकि ईसी की आपात बैठक अदालत के निर्देश के चलते आयोजित हुई है। ईसी के सदस्यों का कहना है कि बैठक के दौरान विश्वविद्यालयों व कॉलेजों में विभागावार आरक्षण मामले पर बात रखने की मांग रखी, लेकिन इसे भी अनसुना कर दिया गया।

डायबिटीज के लिए diabe 250, यूएस पेटेंट अवार्ड से सम्मानित

(अमर उजाला से साभार)

यह भी पढ़ें - बेर में छुपा है सेहत का खजाना, रामचरितमानस में भी मिलता है वर्णन

अंगूर खायेंगे तो कैंसर की होगी छुट्टी

सीताफल (शरीफा) खाने के 15 फायदे

दुनिया की सबसे महंगी जड़ी-बूटी, कीमत जानकर चौंक जायेंगे

हृदय रोग में भी लाभकारी है मुलेठी

अखरोट को यूं ही नहीं कहते पावर फूड, जानिए इसके फायदे

मधुमेह के साथ-साथ कैंसर के खतरे को भी कम करता है करेला

निरोग रहना है तो डिनर में आयुर्वेद के इन 10 सुझावों को माने

अमेरिका ने भी माना गोमूत्र को अमृत, फायदे जानकर रह जायेंगे हैरान

सत्वावजय चिकित्सा से 'आदर्श' को मिली चंद मिनटों में राहत, डॉ. गरिमा ने दिखाया 'आयुर्वेद पावर'

आयुर्वेदिक साइकोथैरेपी है सत्वावजय चिकित्सा : डॉ. गरिमा सक्सेना

आयुर्वेद में स्वाइन फ्लू का पूर्ण इलाज संभव

एक्जिमा का आयुर्वेद से ऐसे करें उपचार

भांग से कैंसर का इलाज

आयुर्वेदिक इलाज की बदौलत 8 महिलाओं को मिला मातृत्व सुख, यूके और यूएस के चिकित्सक भी

हरियाणा में प्रधानमंत्री मोदी ने रखी राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान की आधारशिला

आयुर्वेद के तीन डॉक्टरों ने खोजा हाइपो-थायरॉइड की औषधि - 'जलकुंभी भस्म कैप्सूल'

निरोगस्ट्रीट की संगोष्ठी में चिकित्सकों ने कहा,आयुर्वेद है सबसे तेज

आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का वैश्विक बाजार 14 बिलियन डॉलर

अखबार में लिपटे खाने से हो सकता है कैंसर, जानिए पांच नुकसान

आयुर्वेद ज्ञान की ललक में भारत पहुंची अमेरिका की डॉ. निकोल विल्करसन

केरल में खुला एशिया का पहला स्पोर्ट्स आयुर्वेद अस्पताल

डॉ. आशीष कुमार से जानिए आयुर्वेद और बीमारियों से संबंधित 10 कॉमन सवालों के जवाब

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters