Looking for
  • Home
  • Blogs
  • NirogStreet Newsहेपेटाइटिस-सी वायरस की खोज के लिए मेडिसीन में 3 को नोबेल पुरस्कार

हेपेटाइटिस-सी वायरस की खोज के लिए मेडिसीन में 3 को नोबेल पुरस्कार

User

By NS Desk | 06-Oct-2020

Hepatitis-C virus

स्टॉकहोम - फिजियोलॉजी या चिकित्सा 2020 में नोबेल पुरस्कार सोमवार को अमेरिका के हार्वे जे ऑल्टर और चार्ल्स एम.राइस और ब्रिटिश वैज्ञानिक माइकल ह्यूटन को संयुक्त रूप से हेपेटाइटिस-सी वायरस की खोज के लिए दिया गया। करोलिंस्का इंस्टीट्यूट में नोबेल असेंबली ने कहा कि ऑल्टर, ह्यूटन और राइस ने सेमिनल खोजें कीं, जिस कारण हेपेटाइटिस-सी वायरस की पहचान हुई।

इनकी खोज से पहले, हेपेटाइटिस-ए और बी वायरस की खोज महत्वपूर्ण कदम था, लेकिन रक्त-जनित हेपेटाइटिस के अधिकांश मामले अस्पष्ट ही रहे।

हेपेटाइटिस सी वायरस की खोज ने क्रॉनिक हेपेटाइटिस के शेष मामलों के कारण का पता लगाया और खून की जांच और नई दवाओं को संभव बनाया, जिसने लाखों लोगों की जान बचाई है।

उनकी खोज ने हेपेटाइटिस-सी पर निर्देशित एंटीवायरल दवाओं के तेजी से उत्पादन की भी अनुमति दी।

इतिहास में पहली बार, बीमारी अब ठीक हो सकती है, जिससे दुनिया की आबादी से हेपेटाइटिस-सी वायरस के उन्मूलन की उम्मीद बढ़ जाती है।

डब्ल्यूएचओ का अनुमान है कि दुनियाभर में हेपेटाइटिस के 7 करोड़ से अधिक मामले हैं और हर साल 400,000 लोगों की इसेस मौत होती है।

ऑल्टर अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट्स ऑफ हेल्थ, राइस रॉकफेलर यूनिवर्सिटी से जुड़े हैं, जबकि ब्रिटेन में पैदा हुए ह्यूटन कनाडा के एडमॉन्टन में अलबर्टा यूनिवर्सिटी से जुड़े हैं।

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters