Looking for
  • Home
  • Blogs
  • NirogStreet Newsकोविड-19 के खिलाफ आयुष मंत्रालय का जन आंदोलन अभियान

कोविड-19 के खिलाफ आयुष मंत्रालय का जन आंदोलन अभियान

User

By NS Desk | 21-Oct-2020

COVID-19

आयुष मंत्रालय ने कोविड-19 पर जन आंदोलन अभियान की शुरुआत की है। यह जन आंदोलन कोविड-19 के प्रति लोक स्वास्थ्य प्रतिक्रिया के संबंध में है। कोविड-19 महामारी से मुकाबले के लिए उचित व्यवहार का अभियान, माननीय प्रधानमंत्री द्वारा 8 अक्टूबर को एक ट्वीट के माध्यम से शुरू किया गया था। इसका उद्देश्य आगामी त्योहारों और सर्दी के मौसम को देखते हुए देशभर में लोगों को जागरूक करना और कोविड-19 से बचाव के मान्य तरीकों का अनुपालन करना तथा लोगों को अनुपालन के लिए प्रेरित करना था। आयुष मंत्रालय के अधीन पेशेवर भी जनता के साथ करीब रहकर काम करते हैं, अतः यह क्षेत्र भी इस अभियान को गति देने की तैयारी कर रहा है।

इस जन आंदोलन अभियान का संचालन जनता की भागीदारी से संभव होगा। आयुष चिकित्सक और अन्य पेशेवर उत्प्रेरक की भूमिका निभाएंगे और देश भर में कोविड-19 से संबंधित प्रासंगिक सूचना लोगों तक पहुंचाएंगे। इस अभियान की मुख्य बात होगी 'अनलॉक विद प्रिकॉशन'। जिन तीन मुख्य बातों पर जोर दिया जा रहा है उनमें मास्क पहनना, सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करना और हाथ की सफाई का ध्यान रखना शामिल है।

इस अभियान को सफल बनाने के लिए मंत्रालय से संबंधित कार्यालय और इसके अधीन आने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयां, निजी उद्योग क्षेत्र तथा शिक्षा संस्थानों के साथ साझेदारी कर रहे हैं। आयुष मंत्रालय के अंतर्गत राष्ट्रीय आयुष मिशन की मदद से राज्यों और संघ शासित प्रदेशों में चल रहे आयुष दवाखाने और राज्य तथा संघ शासित क्षेत्रों में आयुष निदेशालय, आयुष मंत्रालय के लिए व्यवहार में बदलाव का संदेश फैलाने में बड़े नेटवर्क की भूमिका निभाएंगे। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य सचिव इन संदेशों के साथ अभियान में समन्वय करेंगे।

इस प्रयास में देशभर में फैले 750 आयुष चिकित्सा विद्यालय और इन विद्यालयों के छात्र तथा शिक्षक भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। शिक्षा नियामक संस्थाओं, सीसीआईएम और सीसीएच बोर्ड के अध्यक्षों से इन कॉलेजों को सक्रिय करने के लिए अनुरोध किया गया है।

आयुष मंत्रालय से सीधे जुड़े लगभग 150 राष्ट्रीय संस्थानों और अनुसंधान परिषदों के अंतर्गत आने वाले अस्पताल और शोध परिषद संप्रेषण और अन्य निवारक गतिविधियों के लिए एक हब की भूमिका निभाएंगे। इन संस्थानों के प्रमुखों ने कोविड-19 से मुकाबले के लिए उपयुक्त व्यवहार से संबंधित सूचना के प्रसारण की जिम्मेदारी संभाली है। आयुष औषधियों का उत्पादन करने वाली सार्वजनिक इकाइयों के भी इस अभियान में भाग लेने की तैयारी है। आईएमपीसीएल के आयुष इम्यूनिटी किट जैसे उत्पाद का भी अभियान में एकीकरण किया गया है।

मंत्रालय, सभी सरकारी कर्मचारियों, मंत्रालय के अधीन वाले आने वाले कर्मियों और अधिकारियों तथा जमीनी स्तर पर काम करने वाले

संस्थानों के साथ-साथ जनता के बीच कोविड-19 से संबंधित संकल्प को प्रोत्साहित कर रहा है। आयुष मंत्रालय के तत्वावधान में लगभग 2000 व्यक्तियों ने संकल्प लिया है। आने वाले दिनों में यह गतिविधियां जारी रहेंगी।

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters