logo
Home Blogs NirogStreet News आयुष मंत्रालय ने लॉन्च किया ई-औषधि पोर्टल

आयुष मंत्रालय ने लॉन्च किया ई-औषधि पोर्टल

By NirogStreet Desk| posted on :   14-Feb-2019| NirogStreet News

Launch of E-Drug portal for online license system of AYUSH drugs

युष मंत्री ने आयुष औषधियों की ऑनलाइन लाइसेंस प्रणाली के लिए ई-औषधि पोर्टल की शुरूआत की

डायबिटीज के लिए diabe 250, यूएस पेटेंट अवार्ड से सम्मानित

दिल्ली, 13 फरवरी, 2018. आयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री श्रीपद येसो नाइक ने आज नई दिल्ली में आयुर्वेद, सिद्ध, यूनानी और होम्योपैथी औषधियों की ऑनलाइन लाइसेंस प्रणाली के लिए ई-औषधि (e-aushadhi portal) नामक पोर्टल की शुरूआत की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस ई-औषधि पोर्टल का लक्ष्य पारदर्शिता बढ़ाना, सूचना प्रबंधन सुविधा में सुधार लाना, डाटा के इस्तेमाल में सुधार लाना और उत्तरदायित्व बढ़ाना है। इसके अलावा इस पोर्टल के माध्यम से आवेदनों की प्रक्रिया के लिए समय सीमा तथा प्रक्रिया के प्रत्येक चरण में एसएमएस और ई-मेल के जरिये जानकारी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि आयुष मंत्रालय की इस पहल से ई-गवर्नेंस, कारोबारी सुगमता और मेक इन इंडिया की दिशा में हमारी सरकार की प्रतिबद्धता का पता चलता है।

श्रीपद यसो नाइक ने कहा, राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान से 2 करोड़ लोगों को मिलेगा फायदा

इस अवसर पर आयुष मंत्रालय में सचिव श्री वैद्य राजेश कोटेचा ने कहा कि आयुष मंत्रालय चिकित्सकों, निर्माताओं और उपभोक्ताओं की समस्याओं के समाधान की दिशा में प्रयासरत है। श्री कोटेचा ने कहा कि यह नया ई-पोर्टल आयुर्वेद, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी ऑटोमेटेड ड्रग हेल्प इनिसियेटिव के लिए एक मूल आधार है। उन्होंने कहा कि यह पोर्टल लाइसेंस प्रदाता अधिकारी, निर्माताओं और उपभोक्ताओं के लिए मददगार होने के साथ-साथ लाइसेंसशुदा निर्माताओं तथा उनके उत्पादों, रद्द की गई और नकली औषधियों के बारे में जानकारी, शिकायतों के लिए संबंधित अधिकारी के संपर्क सूत्र भी तत्काल उपलब्ध कराएगा।

श्रीपद येसो नाइक ने क्षेत्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान की इमारत का किया उद्घाटन

(ayush minister launches e-aushadhi portal for online licensing system of ayush medicine)

(minister of state (ic) for ayush, shri shripad yesso naik launched the e-aushadhi portal, for online licensing of ayurveda, siddha, unani and homoeopathy drugs and related matters today at new delhi. addressing the gathering shri naik said that this e-aushadhi portal is intended for increased transparency, improved information management facility, improved data usability and increased accountability. the minister informed that timelines will be fixed for processing of application through this portal with sms and e-mail status updates at each step of the process. he said that such an initiative of the ministry of ayush is a reflection of our government’s commitment towards e-governance, ease of doing business and make in india.

speaking on the occasion vaidya rajesh kotecha secretary, ministry of ayush said that ministry endeavours to come out with new initiatives and solutions to address the problems faced by practitioners, manufactures and consumers of ayush medicines. in this direction, this new e-portal is an acronym for ayurveda, unani, siddha and homeopathy automated drug help initiative. he further added that this portal will not only aid the licensing authority , manufactures and consumers, as it will provide real time information of the licensed manufactures and their products, cancelled and spurious drugs, contact details of the concerned authority for specific grievances.)

यह भी पढ़ें - बेर में छुपा है सेहत का खजाना, रामचरितमानस में भी मिलता है वर्णन

अंगूर खायेंगे तो कैंसर की होगी छुट्टी

सीताफल (शरीफा) खाने के 15 फायदे

दुनिया की सबसे महंगी जड़ी-बूटी, कीमत जानकर चौंक जायेंगे

हृदय रोग में भी लाभकारी है मुलेठी

अखरोट को यूं ही नहीं कहते पावर फूड, जानिए इसके फायदे

मधुमेह के साथ-साथ कैंसर के खतरे को भी कम करता है करेला

निरोग रहना है तो डिनर में आयुर्वेद के इन 10 सुझावों को माने

अमेरिका ने भी माना गोमूत्र को अमृत, फायदे जानकर रह जायेंगे हैरान

सत्वावजय चिकित्सा से 'आदर्श' को मिली चंद मिनटों में राहत, डॉ. गरिमा ने दिखाया 'आयुर्वेद पावर'

आयुर्वेदिक साइकोथैरेपी है सत्वावजय चिकित्सा : डॉ. गरिमा सक्सेना

आयुर्वेद में स्वाइन फ्लू का पूर्ण इलाज संभव

एक्जिमा का आयुर्वेद से ऐसे करें उपचार

भांग से कैंसर का इलाज

आयुर्वेदिक इलाज की बदौलत 8 महिलाओं को मिला मातृत्व सुख, यूके और यूएस के चिकित्सक भी

हरियाणा में प्रधानमंत्री मोदी ने रखी राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान की आधारशिला

आयुर्वेद के तीन डॉक्टरों ने खोजा हाइपो-थायरॉइड की औषधि - 'जलकुंभी भस्म कैप्सूल'

निरोगस्ट्रीट की संगोष्ठी में चिकित्सकों ने कहा,आयुर्वेद है सबसे तेज

आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का वैश्विक बाजार 14 बिलियन डॉलर

अखबार में लिपटे खाने से हो सकता है कैंसर, जानिए पांच नुकसान

आयुर्वेद ज्ञान की ललक में भारत पहुंची अमेरिका की डॉ. निकोल विल्करसन

केरल में खुला एशिया का पहला स्पोर्ट्स आयुर्वेद अस्पताल

डॉ. आशीष कुमार से जानिए आयुर्वेद और बीमारियों से संबंधित 10 कॉमन सवालों के जवाब

NirogStreet Desk

Are you an Ayurveda doctor? Download our App from Google PlayStore now!

Download NirogStreet App for Ayurveda Doctors. Discuss cases with other doctors, share insights and experiences, read research papers and case studies.