Looking for
  • Home
  • Blogs
  • NirogStreet Newsभारत के वैक्सीन प्रमाणपत्र को 5 और देशों से मान्यता मिली

भारत के वैक्सीन प्रमाणपत्र को 5 और देशों से मान्यता मिली

User

By NS Desk | 02-Nov-2021

Five more countries recognise India covid vaccination news in hindi

ऑस्ट्रेलिया द्वारा भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को वैक्सीन प्राप्त करने वाले यात्रियों के प्रवेश की अनुमति देने के बाद, सोमवार को पांच और देशों ने भारत के वैक्सीन प्रमाणपत्र को मान्यता दी है। इन पांच देशों ने कोवैक्सीन और कोविशील्ड दोनों को मान्यता दी है।

विदेश मंत्रालय (एमईए) ने कहा कि पांच और देशों ने भारत के टीकाकरण प्रमाणपत्र को मान्यता दी है, जिनमें एस्टोनिया, किर्गिस्तान, फिलिस्तीन राज्य, मॉरीशस और मंगोलिया शामिल हैं।

शाम को एक ट्वीट में, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्रों की पारस्परिक मान्यता जारी है! पांच और देशों ने भारत के टीकाकरण प्रमाणपत्र को मान्यता दे दी है, जिसमें एस्टोनिया, किर्गिस्तान, फिलिस्तीन राज्य, मॉरीशस और मंगोलिया शामिल हैं।

भारत में वैक्सीनेशन के बाद इन देशों में यात्रा की जा सकेगी।

इससे पहले, ऑस्ट्रेलिया ने वैक्सीन प्राप्त करने वाले यात्रियों के प्रवेश की अनुमति देने के लिए कोविशील्ड के साथ भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को मान्यता दी थी। ऑस्ट्रेलियाई दवा नियामक, थेरेप्यूटिक गुड्स एडमिनिस्ट्रेशन (टीजीए) ने घोषणा की है कि उसने दो और कोविड-19 टीकों को मान्यता दी है, जो ऑस्ट्रेलिया में पंजीकृत नहीं हैं, लेकिन व्यापक रूप से अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उपयोग किए जा रहे हैं, जिसमें भारत बायोटेक का कोवैक्सीन और बीबीआईबीपी-सीओआरवी (साइनोफार्म, चीन द्वारा निर्मित) टीके शामिल हैं।

इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान टीके की 12,77,542 खुराक देने के साथ ही भारत का टीकाकरण कवरेज 106.31 करोड़ से अधिक हो गया है, जो सोमवार की सुबह 7 बजे तक का अनुमानित आंकड़ा है। यह टीकाकरण 1,06,32,634 सत्रों के जरिए किया गया है।

पिछले 24 घंटों में 12,718 मरीजों के ठीक होने से स्वस्थ होने वाले मरीजों की कुल संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है (महामारी के शुरू होने से लेकर अब तक), जो इस समय 3,36,68,560 है।

परिणामस्वरूप भारत में कोविड से स्वस्थ होने की वर्तमान दर इस समय 98.20 प्रतिशत है।
यह भी पढ़े► यूरोप में लगभग हर 2 में से 1 व्यक्ति को है त्वचा की समस्या: अध्ययन

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters