Looking for
  • Home
  • Blogs
  • NirogStreet Newsकोरोनावायरस रोकने के लिए भारत में 1 लाख से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग

कोरोनावायरस रोकने के लिए भारत में 1 लाख से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग

User

By NS Desk | 10-Feb-2020

coronavirus screening

कोरोनावायरस को भारत में फैलने से रोकने के लिए सरकार चुस्त

नई दिल्ली| कोरोना वायरस संक्रमण की आशंका को लेकर देश के विभिन्न हवाईअड्डों पर एहतियाती कदम के तौर पर एक लाख से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग अबतक की जा चुकी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को कहा, "रविवार तक 21 हवाईअड्डों पर 1,818 उड़ानों में 197,192 यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई। चीन और हांगकांग के अलावा सिंगापुर और थाईलैंड के सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग एयरो-ब्रिजेज पर लगातार की जा रही है।"

यह स्क्रीनिंग समुद्री बंदरगाहों और सीमा चौकियों पर भी की जा रही है।

मंत्रालय के अनुसार, 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 9,452 लोग सामुदायिक निगरानी में हैं। राज्य किसी भी स्थिति से निपटने के लिए त्वरित प्रतिक्रिया टीमों को मजबूत कर रहे हैं।

अब तक कुल 1,510 नमूनों की जांच की जा चुकी है, जिनमें से 1,507 नमूने नकारात्मक पाए गए हैं। केरल के जिन तीन लोगों की जांच पॉजिटिव पाई गई है, उनका इलाज चल रहा है।

 

कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए भारतीय हवाईअड्डों पर 18 जनवरी से यात्रियों की थर्मल जांच जारी है। शुरुआत में यह जांच केवल दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद और कोच्चि हवाईअड्डे पर की जा रही थी, लेकिन अब देशभर के कुल 21 हवाईअड्डों पर आने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने सोमवार को कहा, "आज तक 1818 विमानों के की कुल 1,97,192 यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा चुकी है। हांगकांग और चीन के अलावा सिंगापुर व थाईलैंड से सभी फ्लाइटों के लिए यूनिवर्सल थर्मल स्क्रीनिंग को अनिवार्य किया गया है। हवाई जहाज में घोषणाएं की जा रही हैं और सभी यात्रियों द्वारा स्व-घोषणा प्रपत्र भरे जा रहे हैं।"

उन्होंने कहा कि विशेषज्ञ डॉक्टरों के दल को सभी विमानपत्तनों पर प्रभावी जांच और संबद्ध अस्पतालों में एकांत में रखने की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए भेजा गया। देशभर में चीन से आने वाले सभी मामलों तथा ऐसे व्यक्तियों से संपर्क रखने वाले लोगों और जिन्हें ज्वर, खांसी या सांस लेने में दिक्कत है, उनकी नियमित निगरानी शुरू की जा चुकी है।

डॉ. हर्ष वर्धन ने बताया कि इस समय 29 राज्यों में 9452 यात्रियों पर नजर रखी जा रही है। राज्य निगरानी अधिकारियों, जिला निगरानी अधिकारियों और स्वास्थ्य पेशेवरों की रेपिड रिस्पोंस टीमों द्वारा राज्य स्वास्थ्य सचिवों के नेतृत्वों में दैनिक आधार पर ऐसे लोगों की निगरानी की जा रही है। इसके अलावा देशभर में लक्षणग्रस्त 369 यात्रियों को एकाकी केंद्रों में रेफर किया गया है।

केंद्रीय मंत्री ने संसद में कहा, "मैं स्वयं प्रतिदिन समीक्षा कर रहा हूं। निगरानी के लिए एक मंत्री समूह का गठन किया गया है, जिसमें विदेश मंत्री, नागर विमानन मंत्री एवं गृह राज्यमंत्री, नौवहन राज्यमंत्री और स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण राज्यमंत्री शामिल हैं। मंत्रिमंडल सचिव ने स्वास्थ्य, रक्षा, विदेश, नागर विमानन, गृह, वस्त्र, फार्मा, वाणिज्य आदि सभी संबंधित मंत्रालयों और राज्य मुख्य सचिवों सहित अन्य अधिकारियों के साथ दैनिक समीक्षा की है।"

फिलहाल, चीन से आने वाले किसी भी विदेशी नागरिकों का वर्तमान वीजा अमान्य किया गया है। चीन से आने वाले यात्रियों और कार्मिक दल की पहचान करने और उनमें लक्षण पाए जाने के मामले में उन्हें अलग करने के लिए देश के 12 प्रमुख समुद्री पत्तनों तथा सभी छोटे पत्तनों पर भी यात्रियों की जांच शुरू की गई है।

डॉ. हर्ष वर्धन ने बताया कि नेपाल में एक व्यक्ति के कोरोना वायरस से ग्रस्त होने के बाद उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम और बिहार तथा सीमा सशस्र बल तथा लैंड पोर्ट अथॉरिटी के समन्वयन में नेपाल से लगे सभी चेकपोस्टों पर जांच शुरू की है।

व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) और एन 95 मास्क जैसे महत्वपूर्ण मदों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए इनके निर्यात को विदेश व्यापार महानिदेशालय द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया है। व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों और एन 95 मास्क का बफर स्टॉक राज्यों के साथ-साथ केंद्र सरकार द्वारा रखा जा रहा है।

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters