Looking for
  • Home
  • Blogs
  • NirogStreet Newsकोरोना से मृत महिला के अंतिम संस्कार में उहापोह, डॉक्टरों ने कहा- शवदाह से नहीं फैलता वायरस

कोरोना से मृत महिला के अंतिम संस्कार में उहापोह, डॉक्टरों ने कहा- शवदाह से नहीं फैलता वायरस

User

By NS Desk | 14-Mar-2020

दिल्ली में कोरोना से मरने वाली महिला के अंतिम संस्कार के दौरान ऊहापोह की स्थिति उत्पन्न हो गई। महिला के परिजन शव को अंतिम संस्कार के लिए यमुना बाजार स्थित निगमबोध घाट पर लाए थे। हालांकि यहां निगमबोध कर्मचारियों ने शवदाह की इजाजत देने से इनकार कर दिया। इसके उपरांत उत्तरी दिल्ली नगर निगम, दिल्ली सरकार और पुलिस के हस्तक्षेप के बाद महिला का अंतिम संस्कार संभव हो सका। कोरोना वायरस से 69 वर्षीय महिला की मौत दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में हुई थी। शनिवार को महिला का परिवार अंतिम संस्कार करने के लिए निगम बोधघाट पहुंचा तो यहां करीब तीन घंटे तक उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ा। निगमबोध कर्मचारियों ने कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने के डर से महिला का अंतिम संस्कार होने से रोक दिया। कर्मचारियों के इस रवैया के कारण परिवार को शव का दाह संस्कार करने के लिए इंतजार करना पड़ा। इसके बाद निगम के डॉक्टर निगम बोध घाट पहुंचे तो सीएनजी शवदाह गृह पर महिला का अंतिम संस्कार हो सका।

हालांकि यह विवाद इतनी आसानी से भी नहीं सुलझा यहां निगमबोध घाट कर्मचारियों ने अंतिम संस्कार के लिए नगर निगम से दिशा निर्देश मांगे। स्थिति को नियंत्रित करने और शवदाह की इजाजत दिलाने के लिए नगर निगम के म्यूनिसिपल हेल्थ अफसर को निगमबोध घाट पहुंचना पड़ा। शवदाह गृह कर्मचारियों को आवश्यक निर्देश दिए जाने और नगर निगम के डॉक्टरों की मौजूदगी में सीएनजी शवदाहगृह में अंतिम संस्कार किया गया।

दिल्ली एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने इस विषय पर जानकारी देते हुए कहा कि कोरोनोवायरस शवों के अंतिम संस्कार के माध्यम से नहीं फैल सकता है। यह खांसने और छींकने से फैलता है। इस वायरस के प्रसार के लिए छींकना-खांसी जरूरी है। इसलिए संक्रमित शरीर का अंतिम संस्कार करने में कोई जोखिम नहीं है।"

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी इस मामले को लेकर लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया है स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, "लोगों को डर लगता है कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति के अंतिम संस्कार से संक्रमण हवा में फैल जाएगा, जबकि ऐसे बिल्कुल नहीं है। अंतिम संस्कार करने में कोई दिक्कत नहीं है। मृत्यु के बाद कोरोना वायरस नहीं फैला सकता है।"

दिल्ली की बुजुर्ग महिला कोरोना वायरस से संक्रमित अपने बेटे के संपर्क में आई थी। कोरोना वायरस के कारण अपनी जान गंवाने वाली इस महिला का बेटा पांच से 22 फरवरी के बीच स्विट्जरलैंड और इटली की यात्रा करके वापस दिल्ली लौटा था। फिलहाल कोरोनावायरस से ग्रस्त यह व्यक्ति दिल्ली के आर्य मेल अस्पताल में भर्ती है।

--आईएएनएस

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters