Looking for
  • Home
  • Blogs
  • NirogStreet Newsयूएन ने भांग को खतरनाक मादक पदार्थों की सूची से किया बाहर, दवा के रूप में मिली मान्यता

यूएन ने भांग को खतरनाक मादक पदार्थों की सूची से किया बाहर, दवा के रूप में मिली मान्यता

User

By NS Desk | 05-Dec-2020

cannabis

भांग के औषधीय गुणों का लोहा अब संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी मान लिया है. एक ऐतिहासिक फैसले के तहत संयुक्त राष्ट्र संघ ने भांग को खतरनाक मादक पदार्थों की सूची से बाहर करके इसे औषधि के रूप में मान्यता दे दी है.

गौरतलब है कि पिछले चार दशकों से भांग प्रतिबंधित सूची में था. लेकिन अंततः विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की सिफारिश पर भांग को दवा के रूप में मान्यता दे दी गयी.

इस सम्बन्ध में संयुक्त राष्ट्र संघ के कमीशन ऑफ नारकोटिक ड्रग्स के 63वें सालाना सेशन में वोटिंग हुई जिसमें पक्ष में 27 वोट पड़े जबकि 25 सदस्य देशों ने इसके विपक्ष में वोट दिया. भारत ने इसके पक्ष में मतदान किया. 

आयुर्वेद के ग्रंथों में भांग के औषधीय गुणों का वर्णन मिलता है और इसका प्रयोग लम्बे समय से होता आया है. 

लेकिन पिछले काफी समय से प्रतिबन्ध की वजह से इसपर रिसर्च आदि नहीं हो पा रहे थे, साथ  ही औषधि के रूप में इसके प्रयोग करने में भी कई तरह की बाधाएं थी. 

यूएन से अब मान्यता मिलने के बाद इसके औषधीय प्रयोग को और बल मिलेगा. 

यह भी पढ़े - भांग से कोरोना की दवा बनाने का कनाडा की कंपनी का दावा

भांग (Cannabis) से कैंसर (Cancer) का इलाज (Treatment)

भांग (Cannabis) के उत्पादन और बिक्री को वैध बनाने के लिए नेपाली संसद में बिल पंजीकृत

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters