Looking for
  • Home
  • Blogs
  • NirogStreet Newsआयुर्वेदिक कॉस्मेटोलॉजी और ट्राइकोलॉजी पर पुणे में अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार

आयुर्वेदिक कॉस्मेटोलॉजी और ट्राइकोलॉजी पर पुणे में अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार

User

By Dr Pushpa | 24-Jan-2020

ayurvedic cosmetology and trichology

Seminar on Ayurvedic Cosmetology and Trichology

International Seminar on Ayurvedic Cosmetology and Trichology in Pune : सुंदर और आकर्षक दिखने की चाहत हर किसी में होती है. यही वजह है कि बाज़ार में सौंदर्य प्रसाधनों (cosmetics) की भरमार है और हरेक प्रोडक्ट के अपने-अपने दावे भी हैं. इसके अलावा ब्यूटी सैलून, स्पा और कॉस्मेटिक क्लिनिक्स की भी भरमार है. मिला-जुलाकर कॉस्मेटोलॉजी का एक बड़ा बाज़ार है जो दिनों - दिन बढ़ता ही जा रहा है. लेकिन सवाल उठता है कि आखिर कॉस्मेटोलॉजी होता क्या है?

सामान्य भाषा में हम कह सकते हैं कि कॉस्मेटोलॉजी एक ऐसा विज्ञान है जिसकी मदद से लोगों को खूबसूरत और आकर्षक बनाया जाता है. अलग-अलग चिकित्सा पद्धति, थेरेपी, लोशन , दवाइयों और ब्यूटी प्रोडक्ट्स के जरिए चेहरे, बालों और पूरे शरीर का ब्यूटी ट्रीटमेंट किया जाता है. दूसरे शब्दों में कोई भी ऐसा ट्रीटमेंट जिससे आपका लुक बेहतर हो जाए या आपका सौन्दर्य निखरता हो जिससे आपका अपीयरेंस (appearance) सुधरता है, कॉस्मेटोलॉजी कहलायेगा.

आयुर्वेद के प्राचीन ग्रंथों में कॉस्मेटोलॉजी का वर्णन है. देखा जाए तो आयुर्वेद में कॉस्मेटोलॉजी का वर्णन सूत्रस्थान से लेकर उत्तरतंत्र या कल्पाध्याय तक दिखता है. लेकिन इसे देखने के लिए उस तरह का नजरिया चाहिए. यदि कॉस्मेटोलॉजी के बारे में सोंचकर आप आयुर्वेद को देखेंगे तो आपको कॉस्मेटोलॉजी ही कॉस्मेटोलॉजी दिखेगी. वैसे आयुर्वेद में कॉस्मेटोलॉजी का वर्णन सूत्रस्थान से शुरू होता है जिसमें दिनचर्या (daily routine) पर विशेष ध्यान दिया गया है. इसमें ब्रहममुहूर्त में उठने, आँख की सुरक्षा और सुंदरता पर ध्यान देने, दांत के स्वास्थ्य पर ध्यान देने, नित्य स्नान करने और त्वचा की उचित देखभाल पर बल दिया गया है. अच्छा और पौष्टिक भोजन भी करने पर विशेष जोर दिया गया है क्योंकि भोजन का सबसे पहले असर त्वचा पर पड़ता है. कहने का अभिप्राय है कि अच्छे स्वास्थ्य से ही सुंदर दिखेंगे.

कॉस्मेटोलॉजी के इसी विषय को लेकर महाराष्ट्र के पुणे में एकदिवसीय अन्तराष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया जा रहा है. 'आयुर्वेदिक कॉस्मेटोलॉजी और ट्राइकोलॉजी' विषय पर यह सेमिनार 16 फरवरी को होगा. इसमें मुख्य वक्ता के रूप में डॉ. गोपाकुमार (केरल), डॉ. वी.एल.श्याम(दुबई) और डॉ.हरीश पत्नाकर (पुणे) अपनी बात रखेंगे. अधिक जानकारी और रजिस्ट्रेशन के लिए इन नंबरों पर संपर्क किया जा सकता है - 9270871200, 9579608712

International Seminar on Ayurvedic Cosmetology and Trichology in Pune

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters