Looking for
  • Home
  • Blogs
  • NirogStreet Newsआगरा के अस्पताल में कैंसर मरीज के पैर का अंगूठा चूहे ने कुतरा

आगरा के अस्पताल में कैंसर मरीज के पैर का अंगूठा चूहे ने कुतरा

User

By NS Desk | 06-May-2020

rat

आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में एक 40 वर्षीय कैंसर रोगी के पैर के अंगूठे को चूहे ने कुतर दिया।

पीड़िता का नाम साक्षी खंडेलवाल है, जो पिछले चार दिनों से अस्पताल में भर्ती थी। मंगलवार को जब उसके पति ने उसका कंबल खींचा, तो उसका एक पैर खून से सना हुआ मिला। अंगूठे का एक हिस्सा गायब था।

पति इंद्र खंडेलवाल ने पत्रकारों को बताया, "उसकी पत्नी को कोरोनावायरस जांच रिपोर्ट में नेगेटव पाया गया, जिसके बाद भी कोई भी डॉक्टर मेरी पत्नी को देखने नहीं आया और न ही उसे कोई रेडियोथेरेपी दी गई।"

उन्होंने कहा, "पिछले चार दिनों से भर्ती करने के बाद, स्टाफर्स ने मेरी पत्नी को केवल ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा, क्योंकि उसे सांस लेने में कठिनाई हो रही थी। आज जब मैं अपनी पत्नी के पास गया तो देखा कि पत्नी के पैर के अंगूठे को चूहे ने कुतर दिया है। उसको अस्पताल द्वारा प्राथमिक उपचार भी नहीं दिया। मुझे इलाज के लिए बाहर जाना पड़ा।"

मंगलवार दोपहर को एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें एक महिला के पैर से खून बहता हुआ दिखाई दे रहा है। महिला की मदद करने के लिए उसका पति गुहार लगा रहा है।

बाद में साक्षी को खराब स्वास्थ्य के बावजूद अस्पताल से जबरन छुट्टी दे दी गई।

लोहा मंडी इलाके के रहने वाले खंडेलवाल ने कहा कि मरीज का इलाज करने के बदले उसे छुट्टी दे दी गई।

साक्षी को जून 2019 में कैंसर का पता चला था। वह न्यू आगरा इलाके में एक कैंसर विशेषज्ञ से इलाज करवा रही थी, लेकिन लॉकडाउन के कारण वहां इलाज के लिए नहीं जा सकी।

28 अप्रैल को जब उसकी तबीयत खराब हुई तो परिवार के लोग उसे एसएन मेडिकल कॉलेज ले गए।

जिला मजिस्ट्रेट प्रभु एन. सिंह ने कहा, "मैंने रोगी और उसके पति का वीडियो देखा है। मैं एसएन मेडिकल कॉलेज प्रशासन से इस बारे में पूछताछ कर रहा हूं। दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी और मरीज को आवश्यक उपचार प्रदान किया जाएगा।"

मेडिकल कॉलेज प्रशासन की तरफ से इस बारे में अभी कोई बयान नहीं आया है। (एजेंसी)

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters