Looking for
  • Home
  • Blogs
  • NirogStreet Newsउप्र : बच्ची के शव को कुत्ते द्वारा नोंचने का वीडियो हुआ वायरल

उप्र : बच्ची के शव को कुत्ते द्वारा नोंचने का वीडियो हुआ वायरल

User

By NS Desk | 27-Nov-2020

????? ?? ?? ?? ?????? ?????? ?????? ?? ?????? ??? ?????

संभल (उत्तर प्रदेश)। उत्तर प्रदेश के संभल जिले के एक सरकारी अस्पताल के अंदर एक बच्ची के शव को आवारा कुत्ते द्वारा नोंचने का एक चौंकाने वाला वीडियो सामने आया है।

घटना गुरुवार की है। सड़क दुर्घटना के बाद लड़की को अस्पताल लाया गया था, जिसकी बाद में मौत हो गई। इस मामले में अस्पताल के अधिकारियों ने दो कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है। दोनों कर्मचारी उस दिन बड़ी संख्या में आए शवों का ध्यान नहीं रख सके।

सोशल मीडिया पर वायरल हुए 20-सेकेंड के वीडियो में देखा जा सकता है कि अस्पताल में एक अलग-थलग पड़े स्ट्रेचर पर पड़े एक सफेद कपड़े से ढके हुए शव को एक कुत्ता नोंच रहा है।

पीड़िता के परिवार ने लापरवाही के लिए अस्पताल को दोषी ठहराया है जबकि अस्पताल प्रशासन ने आवारा कुत्तों की समस्या को स्वीकार किया है।

लड़की के पिता चरण सिंह ने संवाददाताओं से कहा, बच्ची को डेढ़ घंटे तक बिना देखे छोड़ दिया गया था। यह अस्पताल की लापरवाही है।

अस्पताल के एक डॉक्टर सुशील वर्मा ने कहा, शव को औपचारिकता के बाद परिजनों को सौंप दिया गया। वे पोस्टमार्टम नहीं चाहते थे और इसे ले जा रहे थे। घटना घटित होने के बाद शायद एक मिनट के लिए शरीर को छोड़ा गया था, इसी बीच यह हुआ।

समाजवादी पार्टी ने ट्विटर पर दिल दहला देने वाला वीडियो साझा करते हुए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

अस्पताल के एक स्वीपर और वार्ड ब्वॉय को निलंबित कर दिया गया है और मामले में एक जांच समिति बनाई गई है।

अस्पताल के अधिकारियों ने कहा, जांच के बाद हमें पता चला कि स्वीपर और वार्ड ब्वॉय जिम्मेदार थे। उन्हें बहुत सारे शवों को देखना था। हालांकि, हमने उन्हें निलंबित कर दिया है और हमने उस डॉक्टर से स्पष्टीकरण मांगा है जो फार्मासिस्ट के साथ आपातकालीन ड्यूटी पर था। हमने मामले की जांच के लिए एक समिति भी बनाई है। (आईएएनएस)

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters