Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsश्रीलंका ने एक दिन में सबसे अधिक संख्या में कोविड के टीके लगाए

श्रीलंका ने एक दिन में सबसे अधिक संख्या में कोविड के टीके लगाए

User

By NS Desk | 16-Jul-2021

कोलंबो, 16 जुलाई (आईएएनएस)। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों से पता चलता है कि श्रीलंका के स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक ही दिन में सबसे अधिक संख्या में लगभग 400,000 लोगों को कोविड टीके लगाए है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, गुरुवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, बुधवार को 384,763 लोगों को कोविड के खिलाफ टीका लगाया गया था, जिनमें से 338,572 लोगों को सिनोफार्म की पहली खुराक मिली और 35,410 लोगों को जैब की दूसरी खुराक मिली।

इसके अलावा, 3,365 व्यक्तियों को पहली खुराक के रूप में स्पुतनिक वी के टीके दिए गए, जबकि फाइजर टीके की पहली खुराक 7,416 प्राप्तकतार्ओं को दी गई।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि अब तक, श्रीलंका ने देश भर में कोरोनोवायरस टीकों की 40 लाख से अधिक पहली खुराक दी है, जिनमें से अधिकांश को सिनोफार्मा टीके प्राप्त हुए हैं।

स्वास्थ्य संवर्धन ब्यूरो (एचपीबी) के निदेशक रंजीत बटुवनथुडावा ने गुरुवार को कहा कि श्रीलंका में 30 साल से अधिक उम्र की 36 फीसदी आबादी को कोविड -19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक दी गई है।

बटुवनथुडावा ने कहा कि राजधानी कोलंबो में, जो वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित है, लक्षित आबादी के 70 प्रतिशत लोगों ने टीके की पहली खुराक प्राप्त कर ली है, जबकि 25 प्रतिशत ने दोनों खुराक प्राप्त कर ली हैं।

बटुवनथुडावा ने कहा, पश्चिमी प्रांत के अन्य दो जिलों को ध्यान में रखते हुए, गमपाहा जिले में 66 प्रतिशत को पहली खुराक दी गई, जबकि 21 प्रतिशत ने दोनों खुराक प्राप्त की हैं।

पिछले हफ्ते, राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने सितंबर से पहले श्रीलंका की अधिकांश आबादी को टीका लगाने के लिए एक व्यापक तंत्र को सामने रखा था।

राजपक्षे ने कहा कि जुलाई में प्राप्त होने वाले कोरोनावायरस टीकों की मात्रा जनता को उपलब्ध कराई जाएगी, और कोरोनवायरस के प्रसार के लिए उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों के रूप में पहचाने जाने वाले जिलों को वैक्सीन वितरण में प्राथमिकता दी जाएगी।

श्रीलंका वर्तमान में महामारी की तीसरी लहर के तहत है, अधिकारियों ने डेल्टा संस्करण के और प्रसार की चेतावनी दी है।

देश में अब तक 279,059 पुष्ट कोरोनावायरस मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि 3,611 मौतें हुई हैं।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरजेएस

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters