Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsरिलायंस फाउंडेशन टीकाकरण मिशन के तहत आरआईएल कर्मचारियों और परिवार के सदस्यों को 10 लाख से अधिक कोविड खुराक

रिलायंस फाउंडेशन टीकाकरण मिशन के तहत आरआईएल कर्मचारियों और परिवार के सदस्यों को 10 लाख से अधिक कोविड खुराक

User

By NS Desk | 28-Jul-2021

नई दिल्ली, 28 जुलाई (आईएएनएस)। देश के कोविड टीकाकरण अभियान को बढ़ावा देते हुए, रिलायंस फाउंडेशन ने पूरे भारत में वैक्सीन की 10 लाख से अधिक खुराक देकर एक मील का पत्थर पार कर लिया है।

रिलायंस फाउंडेशन द्वारा अप्रैल में शुरू की गई मिशन वैक्सीन सुरक्षा पहल, कर्मचारियों, सहयोगियों, भागीदारों और सामान्य आबादी के बड़े समुदाय को मुफ्त टीकाकरण से बचाने के लिए प्रतिबद्धता का प्रतीक है।

सामूहिक टीकाकरण भारत के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता है और मौजूदा संकट से लड़ने का एक तरीका है। सरकारी घोषणाओं और प्रोटोकॉल के बाद, रिलायंस फाउंडेशन ने 100 प्रतिशत कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए टीकाकरण को प्राथमिकता देने के लिए सबसे बड़े मुफ्त कॉपोर्रेट टीकाकरण कार्यक्रमों में से एक की शुरूआत की।

पिछले महीने वार्षिक आम बैठक में रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन नीता एम अंबानी ने आम समुदाय को टीका लगाने की प्रतिबद्धता व्यक्त की थी।

उन्होंने कहा, इस मिशन को राष्ट्रव्यापी आधार पर क्रियान्वित करना एक विनम्र कार्य है। लेकिन यह हमारा धर्म है, प्रत्येक भारतीय के लिए हमारा कर्तव्य, सुरक्षा का हमारा वादा है। हमारा ²ढ़ विश्वास है कि एक साथ, हम कर सकते हैं, और हम इसे पार कर लेंगे।

अब तक, सभी पात्र कर्मचारियों में से 98 प्रतिशत से अधिक को इस वादे को ध्यान में रखते हुए कोविड -19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक के साथ कवर किया जा चुका है। मिशन वैक्सीन सुरक्षा के हिस्से के रूप में, रिलायंस के कर्मचारियों और परिवार के सदस्यों को पहले ही 10 लाख से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। देश भर में 171 से अधिक टीकाकरण केंद्र कर्मचारियों, सहयोगियों, संयुक्त उद्यम भागीदारों और उनके परिवार के सभी सदस्यों का टीकाकरण कर रहे हैं, जिनमें ऑफ-रोल कार्यबल, सेवानिवृत्त कर्मचारी और इनमें से प्रत्येक समूह के आठ परिवार के सदस्य शामिल हैं।

अब, गैर सरकारी संगठनों के माध्यम से संयंत्र स्थानों के पास के समुदायों और सामान्य आबादी को अतिरिक्त 10 लाख खुराक देने के लिए समुदाय के लिए टीकाकरण शुरू किया गया है। कोविड महामारी के माध्यम से, रिलायंस फाउंडेशन आंतरिक और साथ ही बाहरी समुदायों की सुरक्षा की अपनी सामाजिक जिम्मेदारी के लिए प्रतिबद्ध है।

सर एच एन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल ने सरकारी चिकित्सा प्रोटोकॉल के अनुसार प्रत्येक टीकाकरण केंद्र के निरंतर संचालन को सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। टीकाकरण प्रक्रियाओं को डिजिटल कर दिया गया है और स्लॉट बुकिंग से लेकर वैक्सीन प्रमाणपत्र डाउनलोड करने तक जियोहेल्थहब डिजिटल हेल्थ प्लेटफॉर्म के साथ सहज हैं।

निजी संगठनों को कर्मचारियों के लिए टीके खरीदने की अनुमति दिए जाने के बाद मिशन शुरू किया गया था। यह तेजी से और व्यापक टीकाकरण योजना न केवल कर्मचारियों और परिवारों को सुरक्षित रखने में मदद करती है, बल्कि यह सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणालियों पर महामारी की चुनौतियों का अधिक प्रभावी ढंग से मुकाबला करने में भारत का समर्थन करने के दबाव को भी काफी हद तक कम करेगी। रिलायंस फाउंडेशन कई सीएसआर पहलों के माध्यम से कोविड-19 की रोकथाम का समर्थन करता रहा है।

इसमें शामिल हैं-

रोजाना एक लाख मरीजों की जरूरतों को पूरा करने के लिए मेडिकल ऑक्सीजन का मुफ्त उत्पादन

2000 प्लस से ज्यादा कोविड-देखभाल बेड और देश भर में समर्थित सुविधाएं

महामारी से प्रभावित कमजोर समुदायों को 7.5 करोड़ से अधिक भोजन उपलब्ध कराना

फ्रंटलाइन वर्कर्स, दिहाड़ी मजदूरों, ट्रांसपोर्ट वर्कर्स और अन्य समूहों को एक करोड़ से अधिक मास्क और सुरक्षा संदेश वितरित करना

2019-20 के दौरान रिलायंस ने देश के कुल सीएसआर खर्च में 4 फीसदी का महत्वपूर्ण योगदान दिया है। देश को कोविड-19 की नई चुनौतियों का सामना करने में मदद करने के लिए इसे अब व्यवस्थित रूप से बढ़ाया गया है और टीकाकरण मिशन रिलायंस की प्रतिबद्धता वी केयर की एक और पुष्टि है।

--आईएएनएस

एसएस/आरजेएस

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters