Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsयूपी में डेल्टा प्लस के 2 मामलों की पुष्टि

यूपी में डेल्टा प्लस के 2 मामलों की पुष्टि

User

By NS Desk | 08-Jul-2021

लखनऊ, 8 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश से कोविड पॉजिटिव नमूनों की जीनोम सीक्वेंसिंग से डेल्टा प्लस स्ट्रेन के दो मामले सामने आए हैं।

इस साल मई में, 100 नमूने नियमित रूप से वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी, दिल्ली को भेजे गए थे और रिपोर्ट इस सप्ताह की शुरूआत में प्राप्त हुई थी।

डेल्टा प्लस स्ट्रेन अधिक संचरित होता है और शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को कम करता है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस), स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, अमित मोहन प्रसाद के अनुसार, राज्य में नमूनों की जीनोम अनुक्रमण के दौरान मामलों की पहचान की गई । डेल्टा प्लस वायरस की सतह कोविड उपयुक्त व्यवहार को बहुत आवश्यक बनाती है।

अब तक राज्य से विभिन्न प्रयोगशालाओं में जीनोम अनुक्रमण के लिए 1,000 से अधिक नमूने भेजे जा चुके हैं।

इनमें से 80 प्रतिशत से अधिक ने डेल्टा संस्करण के लिए सकारात्मक परीक्षण किया, जबकि लगभग 6 प्रतिशत ने अल्फा के लिए सकारात्मक परीक्षण किया।

डेल्टा प्लस स्ट्रेन के दो मामले पहली बार सामने आए हैं।

सूत्रों ने खुलासा किया कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और देवरिया जिलों के रहने वाले दो मरीजों ने मई में संक्रमण का अनुबंध किया था।

इनमें से एक देवरिया निवासी 66 वर्षीय व्यक्ति की इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि दूसरा गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में 23 वर्षीय रेजिडेंट डॉक्टर है।

दोनों का कोई यात्रा इतिहास नहीं था और वे असंबंधित थे।

बुजुर्ग मरीज ने 7 मई को संक्रमण का अनुबंध किया और उसकी तबीयत बिगड़ने तक घर पर इलाज किया गया और उसके बीआरडी मेडिकल कॉलेज, गोरखपुर में स्थानांतरित कर दिया गया। 29 मई को इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा कि उनका कोई यात्रा इतिहास नहीं था और सभी 27 संपर्कों ने कोविड -19 के लिए नकारात्मक परीक्षण किया।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरजेएस

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters