Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsयूपी के 60 जनपदों को कोरोना संक्रमण से मिली पूरी तरह मुक्ति

यूपी के 60 जनपदों को कोरोना संक्रमण से मिली पूरी तरह मुक्ति

User

By NS Desk | 09-Aug-2021

लखनऊ, 9 अगस्त(आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की चाल सुस्त हो गई है। पिछले 24 घंटों में यूपी के 60 जिलों में कोरोना संक्रमण का एक भी केस सामने नहीं आया है। जबकि 15 जनपदों में केवल इकाई संख्या में मरीजों की पुष्टि की गई है।

स्वाथ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटों में दो लाख 15 हजार से अधिक कोरोना सैम्पल की जांच की गई जिसमें 23 मरीजों की पुष्टि हुई। इस बीच 43 लोगों ने कोरोना को मात दी। यूपी सर्वाधिक टीकाकरण व टेस्ट में दूसरे प्रदेशों से अव्वल है। अब तक प्रदेश में 06 करोड़ 76 लाख 91 हजार 677 कोविड सैम्पल की जांच की जा चुकी है। अब तक 16 लाख 85 हजार 449 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर 98.6 फीसदी है वहीं पॉजिटिविटी दर 0.01 फीसदी रही।

अलीगढ़, अमेठी, चित्रकूट, एटा, फिरोजाबाद, गोंडा हाथरस, पीलीभीत और प्रतापगढ़ में कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं बचा है। यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं। प्रदेश में रोजाना घटते मामलों के बीच ट्रेसिंग, टेस्ट और टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है। जिसके चलते प्रदेश में सक्रिय केसों की संख्या 570 है।

प्रदेश में 05 करोड़ 40 लाख से अधिक वैक्सीन की डोज अब तक दी जा चुकी है। 04 करोड़ 55 लाख से अधिक लोगों ने कम से कम कोविड की एक खुराक ले ली है। वहीं, 84 लाख हजार से अधिक लोगों ने टीके की दोनों डोज प्राप्त कर ली है। यह किसी एक राज्य द्वारा किया गया सर्वाधिक वैक्सीनेशन है।

यूपी में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर योगी सरकार सजग है। जिसके चलते प्रदेश में एक ओर पीकू नीकू की स्थापना संग बेड का विस्तार तेजी से किया जा रहा है। वहीं ऑक्सीजन प्लांट तेजी से चालू किए जा रहे हैं। बता दें कि यूपी पहला ऐसा प्रदेश है जहां इतनी बड़ी संख्या में एक साथ इतने ऑक्सीजन प्लांट क्रियाशील किए जा रहे हैं। यूपी में अब तक 282 ऑक्सीजन प्लांट क्रियाशील हो चुके हैं। वहीं 15 अगस्त तक 552 प्लांट की स्थापना की कार्रवाई तेजी से चल रही है।

--आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters