Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsमंडाविया ने डॉ. रेड्डीज लैब के चेयरमैन के साथ वैक्सीन उत्पादन पर की चर्चा

मंडाविया ने डॉ. रेड्डीज लैब के चेयरमैन के साथ वैक्सीन उत्पादन पर की चर्चा

User

By NS Desk | 05-Aug-2021

नई दिल्ली, 5 अगस्त (आईएएनएस)। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने गुरुवार को नई दिल्ली में डॉ. रेड्डीज लैबोरेट्रीज के चेयरमैन डॉ. सतीश रेड्डी के साथ चर्चा की। स्पुतनिक वी वैक्सीन उत्पादन और इसकी आपूर्ति पर चर्चा के लिए बैठक आयोजित की गई थी।

मंडाविया ने एक ट्वीट में कहा, डॉ. रेड्डीज लैब के अध्यक्ष डॉ. सतीश रेड्डी के साथ बैठक की। कोविड-19 टीका स्पूतनिक वी के उत्पादन और उसकी आपूर्ति पर चर्चा की।

मंडाविया ने मंगलवार को संसद को सूचित किया कि 4 और भारतीय दवा कंपनियां टीकाकरण अभियान को तेज करने के लिए अक्टूबर-नवंबर तक वैक्सीन का उत्पादन शुरू कर सकती हैं। उन्होंने कहा था, दो कंपनियां-भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट-सरकार को वैक्सीन की आपूर्ति कर रही हैं। अब स्पुतनिक वैक्सीन भी उपलब्ध है, जिसका उत्पादन शुरू हो गया है। हैदराबाद स्थित दवा प्रमुख ने पहले ही कहा है कि स्थानीय रूप से निर्मित स्पुतनिक वी सितंबर-अक्टूबर से उपलब्ध होगी।

डॉ. रेड्डीज ने भारत में स्पुतनिक वी उत्पादन के लिए रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) के साथ करार किया है और अप्रैल 2021 में आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण (ईयूए) प्राप्त करने के बाद मई 2021 में यहां वैक्सीन लॉन्च की गई थी।

डॉ. रेड्डीज के साथ आरडीआईएफ का करार हुआ है, जिससे स्पूतनिक वैक्सीन देश के लिए उपलब्ध हुई है। वहीं आरडीआईएफ ने स्पूतनिक वी के निर्माण के लिए डॉ. रेड्डीज सहित छह भारतीय दवा कंपनियों के साथ करार किया है। डॉ. रेड्डीज ने भारत में स्पुतनिक वी की 25 करोड़ शीशियों को बेचने के लिए आरडीआईएफ के साथ समझौता किया है।

स्पुतनिक वी टीकाकरण के दौरान दो शॉट्स के लिए दो अलग-अलग वैक्टर का उपयोग करता है। सरल शब्दों में कहें तो इस वैक्सीन की दोनों खुराक अलग-अलग टीका है, जबकि भारत में पहले से लोगों को दी जा रही कोविशिल्ड और कोवैक्सीन की दोनों खुराक एक ही टीका है। स्पूतनिक की प्रभावकारिता 91.6 प्रतिशत बताई गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, इस बीच भारत में कोविड-19 टीकाकरण का कवरेज कल 48.93 करोड़ के पार हो गया है। गुरुवार सुबह सात बजे तक मिली अस्थायी रिपोर्ट के अनुसार, कुल 57,21,937 सत्रों के जरिए टीके की कुल 48,93,42,295 खुराकें दी जा चुकी हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 35,55,115 खुराकें दी गईं हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी एक बुलेटिन के अनुसार, महामारी की शुरूआत से जितने लोग संक्रमित हुए हैं, उनमें से 3,09,74,022 लोग कोविड-19 से पहले ही स्वस्थ हो चुके हैं, और पिछले 24 घंटों में 36,668 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इस तरह से रिकवरी दर 97.37 प्रतिशत दर्ज की गई है।

--आईएएनएस

एकेके/आरजेएस

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters