Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsदिल्ली में 23 किमी ग्रीन कॉरिडोर ने बचाई बीएसएफ कांस्टेबल की जान

दिल्ली में 23 किमी ग्रीन कॉरिडोर ने बचाई बीएसएफ कांस्टेबल की जान

User

By NS Desk | 23-Jul-2021

नई दिल्ली, 23 जुलाई (आईएएनएस)। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने शुक्रवार को शहर में जसोला से राजेंद्र प्लेस तक 23 किलोमीटर का ग्रीन कॉरिडोर बनाया, ताकि एक मृत व्यक्ति के लीवर को तेजी से ले जाकर एक अन्य व्यक्ति को प्रत्यारोपित करके उसे नया जीवन दिया जा सके।

लीवर (जिगर) को जसोला के इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल से राजेंद्र प्लेस के बीएलके मैक्स अस्पताल में मात्र 22 मिनट में 23 किलोमीटर के रास्ते से ले जाया गया।

एक 70 वर्षीय पुरुष रोगी द्वारा दान किया गया लीवर, जिन्हें इंट्राक्रैनील रक्तस्राव का सामना करना पड़ा, जिसके परिणामस्वरूप उनका मस्तिष्क मृत (ब्रेन डेड) हो गया था, को बीएलके में मध्य प्रदेश में ग्वालियर के रहने वाले एक 42 वर्षीय सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) कांस्टेबल को प्रत्यारोपित किया गया।

बीएलके में एचपीबी सर्जरी और लीवर प्रत्यारोपण विभाग के वरिष्ठ निदेशक और एचओडी अभिदीप चौधरी ने एक बयान में कहा, हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि लगभग सात घंटे तक चली सर्जरी में, हम 42 वर्षीय पुरुष बीएसएफ कांस्टेबल को एक नया जीवन देने में कामयाब रहे, जो लंबे समय से प्रत्यारोपण का इंतजार कर रहे थे।

कांस्टेबल जॉन्डिस, जलोदर (पेट में तरल पदार्थ का असामान्य निर्माण), यकृत एन्सेफैलोपैथी (गंभीर जिगर की बीमारी के कारण मस्तिष्क के कार्य में गिरावट) और आवर्तक गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रक्तस्राव के साथ अंतिम चरण के जिगर की बीमारी से पीड़ित थे।

चौधरी ने कहा, उन्हें इस साल 21 मई से लिवर कोमा की स्थिति में हमारे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मरीज की हालत गंभीर थी, हालांकि, उसके परिवार का कोई भी सदस्य दान के लिए उपयुक्त नहीं था।

डॉक्टर ने कहा कि मरीज ठीक हो रहा है।

उन्होंने कहा, हम उस दाता के परिवार के ऋणी हैं, जिसने गंभीर रोगियों को उनके नुकसान (मृत्यु) के समय में भी सेवा देने का फैसला किया। अंगदान कई अनमोल जीवन बचा सकता है और मुझे वास्तव में उम्मीद है कि हर कोई इस कारण को स्वीकार करेगा। हम सभी संबंधित अधिकारियों जैसे नोटो और दिल्ली पुलिस को भी त्वरित कार्रवाई करने और इसे संभव बनाने के लिए धन्यवाद देना चाहते हैं।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters