Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsतमिलनाडु फ्रंटलाइन वर्कर्स के पूर्ण टीकाकरण पर ध्यान केंद्रित करेगा

तमिलनाडु फ्रंटलाइन वर्कर्स के पूर्ण टीकाकरण पर ध्यान केंद्रित करेगा

User

By NS Desk | 05-Aug-2021

चेन्नई, 5 अगस्त (आईएएनएस)। तमिलनाडु का स्वास्थ्य विभाग स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस कर्मियों, टैक्सी, ऑटो चालकों, स्वयंसेवकों आदि सहित अपने अग्रिम पंक्ति के कोविड योद्धाओं के पूर्ण टीकाकरण पर सक्रिय रूप से ध्यान केंद्रित कर रहा है।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, जहां 80 फीसदी फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीके की पहली खुराक दी गई थी, वहीं केवल 37 फीसदी ने ही दोनों खुराक लिए हैं।

राज्य को अगस्त महीने के लिए टीकों की 79 लाख खुराकें मिली हैं और स्वास्थ्य विभाग इस टीके का एक हिस्सा फ्रंटलाइन वर्कर्स को उपलब्ध कराने के लिए रणनीति बना रहा है।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने पहले ही अपने कार्यकर्ताओं को आगे आने और टीकों की दूसरी खुराक लेने के लिए एक सर्कुलर जारी किया है, क्योंकि विभाग अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं को टीकों की दोनों खुराक जल्द से जल्द लेने के लिए आक्रामक रूप से प्रोत्साहित कर रहा है।

राज्य के स्वास्थ्य सचिव, डॉ जे राधाकृष्णन ने बुधवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि विभाग इच्छुक है कि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं सहित अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता पूरी तरह से टीका लगाए जाएं।

तमिलनाडु ने 1.72 लाख गर्भवती महिलाओं और 1.39 लाख स्तनपान कराने वाली माताओं का टीकाकरण किया है, जो देश में सबसे अधिक है।

राज्य को अब तक 2.45 करोड़ टीके मिले हैं और इसमें से 2.25 करोड़ टीके सरकारी अस्पतालों और शेष 19.87 लाख खुराक निजी अस्पतालों को वितरित किए गए हैं।

राज्य ने अब तक 2.36 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया है और अगस्त कोटे के लिए टीकों की 79 लाख खुराक आने के साथ, राज्य टीकाकरण प्रक्रिया में तेजी लाएगा।

चेन्नई में एक पुलिसकर्मी सुब्रमण्यम एम ने आईएएनएस को बताया, मैंने टीके की दोनों खुराक ले ली हैं, लेकिन मेरे कुछ साथी हैं जिन्होंने अभी तक दूसरी खुराक नहीं ली है। स्वास्थ्य विभाग ने पहले ही पुलिस विभाग को दोनों खुराक लेने के लिए सूचित कर दिया है। ।

--आईएएनएस

आरएचए/आरजेएस

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters