Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsजि़म्बाब्वे को कोविड के खिलाफ लड़ाई में संसाधनों की कमी का सामना करना पड़ रहा है: अधिकारी

जि़म्बाब्वे को कोविड के खिलाफ लड़ाई में संसाधनों की कमी का सामना करना पड़ रहा है: अधिकारी

User

By NS Desk | 07-Jul-2021

हरारे, 7 जुलाई (आईएएनएस)। जिम्बाब्वे के कुछ प्रांत ऐसे समय में व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) और स्वास्थ्य कर्मियों की कमी का सामना कर रहे हैं, जब देश कोविड महामारी की तीसरी लहर का सामना कर रहा है। इसकी जानकारी सूचना मंत्री मोनिका मुत्सवांगवा ने मंगलवार को दी।

मुत्सवांगवा ने कैबिनेट के बाद मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहा कि ट्रेजरी को कुछ फंडों को तत्काल जारी करने के लिए निर्देशित किया गया था, जो कि बीमारी के प्रसार को रोकने के प्रयासों के लिए मौजूदा स्तर 4 लॉकडाउन को लागू करने के लिए प्रतिबद्ध था।

सिन्हुआ समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा कि देश के प्रांतों के निष्कर्षों ने महामारी के खिलाफ लड़ाई में कई बाधाओं का संकेत दिया था, जिसमें टीके की गलत सूचना, पीपीई और स्वास्थ्य कर्मियों की कमी, और घर से काम करने वाले अधिकांश सिविल सेवकों के लिए इंटरनेट की कमी शामिल हैं।

मुत्स्वंगवा ने कहा कुछ जिला अस्पतालों को बल्क ऑक्सीजन टैंक की आवश्यकता होती है, जबकि अन्य को कार्यात्मक अलगाव केंद्रों की आवश्यकता होती है।

मुत्स्वांगवा ने कहा कि कार्यस्थलों पर 40 प्रतिशत तक भीड़भाड़ कम करने के सरकार के निर्देश के बाद, यह सामने आया है कि अधिकांश सिविल सेवकों के पास लैपटॉप जैसे व्यापार के उपकरण और घर से काम करने में सक्षम होने के लिए इंटरनेट तक पहुंच की कमी है।

मंत्री ने यह भी कहा कि अंत्येष्टि वायरस के प्रमुख प्रसारक बन गए थे, और उन्होंने पर्यावरण स्वास्थ्य कार्यकतार्ओं और पुलिस सहित संबंधित अधिकारियों से कोविड निवारक उपायों को लागू करने को मजबूत करने का आह्वान किया।

मंगलवार तक, जि़म्बाब्वे ने 1,911 मौतों और 41,406 वसूली के साथ 56,014 कोविड मामले दर्ज किए थे।

--आईएएनएस

एसएस/आरजेएस

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters