Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsकोविड से मौतों के आंकड़े में धांधली के लिए केरल सरकार पर हो कार्रवाई : कांग्रेस

कोविड से मौतों के आंकड़े में धांधली के लिए केरल सरकार पर हो कार्रवाई : कांग्रेस

User

By NS Desk | 07-Jul-2021

तिरुवनंतपुरम, 7 जुलाई (आईएएनएस)। केरल में प्रमुख विपक्षी दल, कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ ने बुधवार को पिनारायी विजयन सरकार को चेतावनी दी कि यदि वह कोविड के कारण मरे लोगों का सही आंकड़ा नहीं देती है, तो विपक्ष कानूनी कार्रवाई पर विचार करेगा।

पार्टी विधायक और प्रदेश कांग्रेस पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष टी. सिद्दीकी ने कहा, यह सब इसलिए हुआ है, क्योंकि राज्य के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के.के. शैलजा कोविड महामारी से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए गौरव प्राप्त करना चाहती थीं।

सिद्दीकी ने कहा, विजयन को इस पर सफाई देनी चाहिए और वास्तव में क्या हुआ है, इसकी जांच के लिए एक उच्च स्तरीय समिति नियुक्त की जानी चाहिए। यदि नहीं, तो उन्हें कानूनी कदम उठाने के लिए मजबूर किया जाएगा।

कांग्रेस के नेतृत्व वाला विपक्ष लंबे समय से, राज्य विधानसभा के अंदर और बाहर केरल सरकार पर कथित तौर पर कोविड से मौतों की संख्या में हेरफेर का आरोप लगा रही है।

जब से महामारी सामने आई है, केरल में अब तक कोविड से 13,960 मौतें दर्ज की गई हैं, लेकिन कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्ष ने बार-बार कहा है कि इसे पूरी तरह से कम करके आंका गया और उन्हें संदेह है कि कोविड के कारण होने वाली वास्तविक मौतें 30,000 से अधिक हो सकती हैं।

इस मुद्दे को अब गंभीरता से लिया गया है, क्योंकि शीर्ष अदालत ने उन सभी लोगों को मुआवजा देने का फैसला सुनाया है, जिनकी मौत कोविड से हुई है।

राज्य की नई स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा है कि वह मौतों के आंकड़ों पर फिर से विचार करने के लिए तैयार हैं और केरल सरकार ने जो कुछ किया है वह डब्ल्यूएचओ/ आईसीएमआर के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए किया है।

हैरानी की बात यह है कि जब से यह मुद्दा सामने आया है, विजयन ने इस पर एक शब्द भी नहीं कहा है और न ही एक साल से अधिक समय से कोविड से संबंधित कोई प्रेस मीटिंग की है।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters