Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsकोविड के बढ़ने के कारण केरलवासियों का तमिलनाडु और कर्नाटक में प्रवेश करना मुश्किल

कोविड के बढ़ने के कारण केरलवासियों का तमिलनाडु और कर्नाटक में प्रवेश करना मुश्किल

User

By NS Desk | 02-Aug-2021

तिरुवनंतपुरम, 2 अगस्त (आईएएनएस)। केरल से तमिलनाडु और कर्नाटक में प्रवेश करने वाले सभी लोगों, विशेष रूप से इन दोनों राज्यों में वालयार सीमा और थलपाडी सीमा पर, सीमा पार करना मुश्किल हो रहा है, क्योंकि संबंधित राज्य पुलिस ने केरल से यात्रा करने वाले लोगों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट की निगटिव रिपोर्ट को अनिवार्य बना दिया है।

वालयार बॉर्डर पर आरटी-पीसीआर टेस्ट कराने की सुविधा उपलब्ध है।

इस बीच, थलपाडी सीमा पर, कासरगोड में और कर्नाटक में मैंगलोर के प्रवेश बिंदु पर, जिनके पास यह दिखाने के लिए रिकॉर्ड थे कि उन्होंने दोनों टीके ले लिए हैं, लेकिन सुबह 8 बजे के बाद, चीजें बदल गईं। कर्नाटक पुलिस ने जोर देकर कहा कि आरटी-पीसीआर परीक्षण अनिवार्य है।

विरोध करने वाले एक केरलवासी को कर्नाटक पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

लेकिन सीमा पर नाराज केरल के निवासी जल्द ही हरकत में आ गए और कर्नाटक से आने वाले और केरल में प्रवेश करने वाले सभी वाहनों को रोक दिया।

नाराज प्रदर्शनकारियों ने कहा कि,हमने कर्नाटक के अधिकारियों से संपर्क किया था और उन्होंने कहा था कि जिन लोगों ने दोनों टीके ले लिए हैं उन्हें अनुमति दी जाएगी और अब उन्होंने उस नियम को बदल दिया है और आरटी-पीसीआर परीक्षण पर जोर दे रहे हैं जो 72 घंटे से अधिक नहीं होना चाहिए। पुलिस, केरल से यात्रा कर रहे दुर्घटना पीड़ितों को मैंगलोर के अस्पतालों में जाने की अनुमति भी नहीं दे रही है।

इन पड़ोसी सरकारों के अचानक से मुक्त आवागमन को प्रतिबंधित करने का निर्णय केरल में दैनिक मामलों की बढ़ती संख्या के कारण है, जिसमें पिछले छह दिनों में एक लाख से अधिक नए मामले सामने आए हैं, जबकि परीक्षण पॉजिटिविटी दर 12 प्रतिशत से ऊपर बनी हुई है। राष्ट्रीय औसत 2.81 प्रतिशत है।

--आईएएनएस

एसएस/आरजेएस

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters