Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsकेरल के कोझीकोड में 2 स्वास्थ्य कर्मियों में देखे गए निपाह के लक्षण

केरल के कोझीकोड में 2 स्वास्थ्य कर्मियों में देखे गए निपाह के लक्षण

User

By NS Desk | 05-Sep-2021

तिरुवनंतपुरम, 5 सितम्बर (आईएएनएस)। रविवार को निपाह वायरस से एक 12 वर्षीय लड़के की मौत के बाद, दो स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं में भी लक्षण दिखे हैं, जिसके बाद उन्हें निगरानी में रखा गया हैं। दो स्वास्थ्य कार्यकर्ता उस 12 वर्षीय लड़के के संपर्क में थे।

राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज, जो सुबह कोझीकोड पहुंचीं, उन्होंने राज्य के पीडब्ल्यूडी मंत्री पी.ए. मोहम्मद रियाज और राज्य के परिवहन मंत्री ए.के. शशिंद्रन ने स्थिति की समीक्षा के लिए स्वास्थ्य, राजस्व और पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की।

समीक्षा बैठक मुख्य रूप से 12 साल के बच्चे की मौत और 10 जून, 2018 को राज्य में निपाह की वापसी के बाद उत्पन्न स्थिति के प्रबंधन के लिए उठाए जाने वाले कदमों के तहत की गई।

2018 में फैले पिछले निपाह मामलों में 17 लोगों की जान चली गई थी। जिसके बाद से सरकार और स्वास्थ्य विभाग अब कोई चांस नहीं ले रहा है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार, दो स्वास्थ्य अधिकारियों, जो लड़के की संपर्क सूची में थे, में वायरस के लक्षण विकसित हुए हैं। कॉन्टैक्ट लिस्ट में कुल 188 लोग हैं और इनमें से 20 इंडेक्स लिस्ट और हाई रिस्क कैटेगरी में हैं।

राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने मीडियाकर्मियों को बताया कि स्वास्थ्य कर्मियों में से एक कोझिकोड के सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल से है और दूसरा उस निजी अस्पताल से है जहां पहले लड़के का इलाज किया गया था।

स्वास्थ्य मंत्री ने कोझिकोड के सरकारी गेस्ट हाउस में समीक्षा बैठक के बाद मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा, चिंता की कोई बात नहीं है, लेकिन अत्यधिक सतर्क रहने की जरूरत है। कोझीकोड के सरकारी मेडिकल कॉलेज के एक वार्ड को पहले ही निपाह वार्ड में बदल दिया गया है। और एक नियंत्रण कक्ष खोला गया है।

उन्होंने कहा कि कोझीकोड सरकारी मेडिकल कॉलेज में तीन मंजिला वार्ड निपाह और उच्च जोखिम वाले रोगियों के लिए आवंटित किया जाएगा और स्वास्थ्य कर्मियों को जल्द ही उस सुविधा में स्थानांतरित कर दिया जाएगा। मंत्री ने यह भी कहा कि नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी), पुणे की एक टीम जल्द ही कोझीकोड पहुंच जाएगी और कोझीकोड के सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एक वायरोलॉजी लैब स्थापित करेगी। यह लैब निपाह वायरस की शुरूआती जांच के लिए होगी।

मंत्री ने यह भी कहा कि बीमारी के संपर्क स्रोत का पता लगाने के लिए चिकित्सा दल चथमंगलम पंचायत का दौरा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बच्चे का परीक्षा परिणाम घोषित होने से पहले शनिवार शाम तक सभी आवश्यक सावधानियां बरती गईं।

इस बीच अधिकारियों ने कोझीकोड जिले में हाई अलर्ट घोषित कर दिया है। मृतक लड़के के आवास के 3 किमी के भीतर की सड़कों को भारी पुलिस बल के साथ ड्यूटी के लिए तैनात किया गया है।

स्वास्थ्य विभाग ने पहले ही चथमंगलम पंचायत के वार्ड नंबर 9 को बंद कर दिया था और अब वार्ड 8, 10 और 12 में प्रतिबंध लगा दिए हैं।

कोझिकोड जिले के ओमासेरी में स्थानीय अस्पताल के कर्मचारियों को भी अलर्ट पर रखा गया है, जहां बच्चे को बुखार होने के बाद पहले परामर्श के लिए ले जाया गया था।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने स्थानीय लोगों को पहले ही सूचित कर दिया है कि वे बुखार, उल्टी और अन्य स्वास्थ्य बीमारियों के किसी भी मामले की तुरंत रिपोर्ट करें।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरजेएस

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters