Looking for
  • Home
  • Blogs
  • CoronaVirus Newsकर्नाटक के केरल-सीमावर्ती जिलों में कोविड पॉजिटिविटी दर 2 प्रतिशत से कम

कर्नाटक के केरल-सीमावर्ती जिलों में कोविड पॉजिटिविटी दर 2 प्रतिशत से कम

User

By NS Desk | 07-Sep-2021

बेंगलुरू, 7 सितम्बर (आईएएनएस)। कर्नाटक सरकार के कड़े कदमों की शुरूआत की वजह से केरल के सीमावर्ती जिलों में कोविड पॉजिटिविटी दर घटकर 2 प्रतिशत से भी कम हो गई है।

दक्षिण कन्नड़ के सीमावर्ती जिले में 1.99 प्रतिशत और कोडागु में 1.95 प्रतिशत पॉजिटिविटी दर्ज की गई।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा सोमवार शाम को जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, कर्नाटक राज्य के सभी जिलों में कोविड पॉजिटिविटी दर 2 फीसदी से कम हो गई है।

सरकार कर्फ्यू, प्रतिबंध, त्योहारों की अनुमति और स्कूल खोलने के मामले में 2 प्रतिशत से ज्यादा कोविड पॉजिटिविटी दर को गंभीर मान रही है। सरकार सीमावर्ती जिलों से संबंधित निर्णय ले सकती है।

राज्य सरकार दक्षिण कन्नड़ जिले के लिए परेशान थी, जब एक समय में कोविड पॉजिटिव मामलों में केरल के लोगों की भारी आमद ने राज्य की राजधानी बेंगलुरु को पछाड़ दिया था। सरकार ने केरल राज्य से आने वाले सभी लोगों को सात दिनों के लिए क्वारंटाइन करने का भी निर्णय लिया है।

जिन जिलों ने ज्यादा संख्या में मामले दर्ज किए, उनमें भी कम कोविड पॉजिटिविटी दर दिखाई दी, जिनमें उडुपी (1.31 फीसदी), हसन (1.21 फीसदी), मैसूर (1.13 फीसदी), कोलार (1.11 फीसदी), शिवमोग्गा (0.92 फीसदी), चिकमगलूर (0.89 फीसदी), उत्तर कन्नड़ (0.73 फीसदी) शामिल हैं।

कोलार, धारवाड़, गडग, रामनगर, कोडागु, बेल्लारी, चिक्कबल्लापुर, चामराजनगर, विजयपुर, कोप्पल और बेंगलुरु ग्रामीण जिलों में कोविड मामलों की संख्या में पहले के आंकड़ों की तुलना में कोविड पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़ रही है। हालांकि, राज्य के 18 जिलों में कोविड के कम मामले दर्ज किए गए।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य में पॉजिटिविटी दर 0.69 फीसदी रही। रिपोर्ट किए गए नए कोविड पॉजिटिव मामले पूरे राज्य में 1,000 (973) से कम थे। चार जिलों ने शून्य मामले दर्ज किए, जबकि 10 जिलों में कोविड पॉजिटिव मामले सिंगल अंकों में थे।

--आईएएनएस

एसएस/आरजेएस

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters