Looking for
  • Home
  • Blogs
  • Ayurvedic Medicinesत्रैलोक्य विजया वटी के फायदे - Trailokya Vijaya Vati​ Benefits in Hindi

त्रैलोक्य विजया वटी के फायदे - Trailokya Vijaya Vati​ Benefits in Hindi

User

By NS Desk | 24-Dec-2020

Trailokya Vijaya Vati

हेम्पस्ट्रीट की त्रैलोक्य विजया वटी : दर्द से राहत

त्रैलोक्य विजया वटी की जानकारी : Trailokya Vijaya Vati​ in Hindi

विजया (भांग) से बनी दवा 'त्रैलोक्य विजया वटी' दर्द कम करने की अचूक आयुर्वेदिक औषधि है. मोटर न्यूरॉन पर इसका तत्काल प्रभाव पड़ता है. यही वजह है कि इसके सेवन से दर्द से तुरंत राहत मिलती है. मेंस्ट्रुअल क्रैम्प्स और डिसमेनोरिया में बेहद प्रभावी. 

त्रैलोक्य विजया वटी के फायदे - Trailokya Vijaya Vati​ Benefits in Hindi

  • पुराने दर्द और जोड़ों के दर्द में लाभदायक 
  • सायटिका  के दर्द में प्रभावी 
  • मांसपेशियों में ऐंठन में लाभदायक  
  • मेंस्ट्रुअल क्रैम्प्स और डिसमेनोरिया में प्रभावी 
  • पेट के दर्द में राहत 
  • कोलाइटिस, IBS और डायरिया के उपचार में प्रभावी
  • भूख बढ़ाता है
  • अनिद्रा (इंसोमनिया) और चिंता पर नियंत्रण में सहायक 
  • नींद की गुणवत्ता में सुधार और नियंत्रण 
  • थकान और न्यूरोपैथिक दर्द में आराम 
  • कीमोथेरेपी के साइड-इफेक्ट्स को कम करने में सहायक 
  • गुर्दे (रीनल कालिक) और पेट के दर्द में प्रभावी
  • भूख बढाने में मददगार  

त्रैलोक्य विजया वटी - आहार और विहार : Trailokya Vijaya Vati​ - Diet

  • आहार- गाय का दूध और घी, प्रसंस्कृत (प्रोसेस्‍ड) छांछ , पौष्टिक, स्वास्थ्यवर्धक, सुपाच्य और ताजा भोजन , शारीरिक क्षमता के अनुरूप नियमित व्यायाम, गर्म पानी का सेवन और रात का भोजन (डिनर) जल्दी करना
  • विहार - शुष्क और गर्म वातावरण , देर से रात का भोजन और कम नींद 
  • परहेज- मसालेदार, ठंढा, गरिष्ठ और जंक फूड से परहेज करना चाहिए. देर से रात का भोजन भी नहीं करना चाहिए. 

त्रैलोक्य विजया वटी से संबंधित सावधानियां : Trailokya Vijya Vati Safety Information in Hindi

  • गर्भवती महिलाओं को इस दवा का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए 
  • स्तनपान की अवस्था में भी त्रैलोक्य विजया वटी का सेवन निषिद्ध है 
  • छोटे बच्चों को इस दवा को किसी भी स्थिति में नहीं दिया जाना चाहिए 
  • भांग या भांग से बनी चीजों से आपको एलर्जी है तो इस दवा को नहीं लेना चाहिए. 
  • ह्रदय रोगियों भी इस दवा के सेवन से बचना चाहिए या फिर दवा चिकित्सकीय देख-रेख में लिया जाना चाहिए.
  • किसी भी तरह की सर्जरी के ठीक पहले दवा का सेवन नहीं करना चाहिए. सर्जरी के हफ्ते भर पहले दवा बंद कर देनी चाहिए. 
  • आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह लेने के बाद ही दवा लेना शुरू कर ​लेना आवश्यक है
  • आयुर्वेदिक और एलोपैथिक दोनों तरह की आप दवाएं खा रहे हैं तो दवाओं के बीच समय अंतराल रखना चाहिए 
  • ओवरडोज से बचे
  • उनींदापन, हल्का सिरदर्द, धड़कन और ब्लड प्रेसर में उतार-चढ़ाव की स्थिति में चिकित्सीय सहायता तुरंत लें
  • यदि दवा ले रहे हैं तो शराब न पिएं
  • दवा लेने के बाद ड्राइव न करे या दूसरे किसी भी तरह की मशीन को न चलायें 

त्रैलोक्य विजया वटी की खुराक (डोज)  : Trailokya Vijya Vati  Dose in Hindi

  • एक टेबलेट दिन में दो बार या फिर आयुर्वेद चिकित्सक के सलाहनुसार सेवन करना ठीक होगा. 

उत्पादक कंपनी - हेम्पस्ट्रीट मेडिकेयर प्राइवेट लिमिटेड 

त्रैलोक्य विजया वटी की अधिक जानकारी के लिए  +91 9020774400 पर कॉल किया जा सकता है या [email protected] पर मेल कर सकते हैं. इसकी ऑनलाइन खरीददारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे -
 
( चेतावनी त्रैलोक्य विजया वटी आयुर्वेद चिकित्सक के निर्देशानुसार ही लेना आवशयक है)
 
consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters