Looking for
  • Home
  • Blogs
  • Ayurveda Streetआयुर्वेद के समृद्ध ज्ञान के बिना स्वास्थ्य सेवाओं का भविष्य अधूरा - डॉ. अनिल देशमुख

आयुर्वेद के समृद्ध ज्ञान के बिना स्वास्थ्य सेवाओं का भविष्य अधूरा - डॉ. अनिल देशमुख

User

By NS Desk | 03-Dec-2021

Ayurveda is the future of health care services in hindi

आयुर्वेद के बेहतर इकोसिस्टम के लिए प्रौद्योगिकी और डिजिटलीकरण से तालमेल जरुरी

नागपुर- कोविड महामारी ने वर्तमान स्वास्थ्य प्रणाली के सामने नया संकट पैदा कर दिया है जिसपर गहन चिंतन बेहद आवश्यक हो गया है। भविष्य के हेल्थकेयर सिस्टम के परिप्रेक्ष्य में ऐसी महामारियों से निपटने के तरीकों पर चिकित्सकीय विमर्श आज की आवश्यकता बन गई है ताकि ऐसी किसी और चुनौती का सामना करने के लिए हमारा स्वास्थ्य प्रणाली तैयार हो सके।  

नागपुर में रविवार 21 नवंबर को कन्टिन्यूइंग मेडिकल एजुकेशन (सतत चिकित्सा शिक्षा)  के तहत एक ऐसे ही कार्यक्रम का आयोजन निरोगस्ट्रीट द्वारा किया गया जिसमें इस बात पर सघन चर्चा हुई कि कैसे प्रौद्योगिकी और डिजिटलीकरण के माध्यम से आयुर्वेद को आधुनिक दुनिया के लिए अधिक प्रासंगिक और सुलभ बनाया जा सकता है।

यह कार्यक्रम एक बड़ी सफलता थी जिसमें शहर भर के 50 से अधिक डॉक्टरों और चिकित्सा बिरादरी से जुड़े विद्वजनों ने भाग लिया।

प्रसिद्ध आयुर्वेद चिकित्सक और विशेषज्ञ डॉ. अनिल देशमुख, एमडी आयुर्वेद, निदेशक और मुख्य चिकित्सक, श्री विश्वामृत आयुर्वेदिक क्लिनिक, नागपुर आयुर्वेदिक मल्टीस्पेशलिटी क्लिनिक पंचकर्मा ने कार्यक्रम में डॉक्टरों और चिकित्सा बिरादरी के सदस्यों को संबोधित किया।

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि प्रौद्योगिकी और डिजिटलीकरण न केवल लोगों के आयुर्वेद उपचार तक पहुंचने के तरीके को फिर से विकसित कर सकता है, बल्कि ज्ञान के आदान - प्रदान को  सहज बनाकर आयुर्वेद के इकोसिस्टम (पारिस्थितिकी तंत्र) को बेहतर बनाने में भी मदद कर सकता है।

डॉ. अनिल देशमुख ने कहा, "आयुर्वेद के समृद्ध ज्ञान के बिना स्वास्थ्य सेवाओं का भविष्य अधूरा होगा। आधुनिक दुनिया में आयुर्वेद के ज्ञान का लाभ उठाने के लिए और इसे सही मायने में अपनाने के लिए हमें प्रौद्योगिकी और डिजिटलीकरण की आवश्यकता है।

प्रौद्योगिकी और डिजिटलीकरण आयुर्वेद में पारदर्शिता और विश्वास के पुनर्निर्माण में मदद करेगा। साथ ही प्रामाणिक आयुर्वेदाचार्यों और प्रामाणिक आयुर्वेदिक दवाओं तक पहुँचाने में हमारी मदद करेगा।

आधुनिक चिकित्सा पद्धति के साथ मिलकर आयुर्वेद सफल प्रभावी उपचार प्रदान कर सकता है। दरअसल आयुर्वेद स्वाभाविक रूप से एक स्थायी अभ्यास है, ठीक यही वैश्विक स्वास्थ्य सेवा की अभी जरूरत है। "

निरोगस्ट्रीट देश का सबसे बड़ा B2B2C सामुदायिक मंच है जो आयुर्वेद समुदाय (कम्युनिटी) को तकनीक और अन्य माध्यमों के द्वारा निरंतर मजबूत बनाने की दिशा में उल्लेखनीय कार्य कर रहा है। यह भारत का पहला और एकमात्र प्रौद्योगिकी आधारित आयुर्वेद चिकित्सक मंच है जिसने सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में लोगों को आयुर्वेद को प्रथम विकल्प के तौर पर अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया।

निरोगस्ट्रीट साक्ष्य आधारित प्रैक्टिस, प्रामाणिक आयुर्वेदाचार्यों और प्रामाणिक आयुर्वेदिक दवाओं के साथ आयुर्वेदिक उपचार के प्राचीन विज्ञान को आधुनिक प्रारूप में और अधिक सुलभ बनाने की दिशा में लगातार काम कर रहा है।
यह अंग्रेजी में भी पढ़े► Medical Fraternity meet in Nagpur: Reinventing Ayurveda with Technology & Digitization

consult with ayurveda doctor.
डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।
Subscribe to our Newsletters