Home Blogs Vaidya Street वैद्य हेमंत शर्मा ने लगवाई कोविशील्ड वैक्सीन, साझा किया अपना अनुभव

वैद्य हेमंत शर्मा ने लगवाई कोविशील्ड वैक्सीन, साझा किया अपना अनुभव

By Dr Pushpa | Vaidya Street | Posted on :   03-Feb-2021

भारत में कोरोना की वैक्सीन को लेकर कई तरह की बातें हो रही है। कई तरह की अफवाहें और ख़बरें भी है जिसकी वजह से लोगों के मन में संशय है कि वैक्सीन लगवाया जाए या नहीं? कहीं वैक्सीन लगवाने से शरीर पर कोई दुष्प्रभाव तो नहीं पड़ेगा! ऐसे कई सवाल लोगों के मन में हैं। इसी संदर्भ में आयुर्वेद चिकित्सक वैद्य हेमंत शर्मा ने सोशल मीडिया पर अपने अनुभव को साझा किया है जिसमें उन्होंने भारतीय वैक्सीन कोविशील्ड को लेकर अपने अनुभव को  साझा किया है। गौरतलब है कि उन्होंने 29 जनवरी 2021 को कोविशील्ड वैक्सीन का टीका लगवाया। पढ़िए उनका पूरा अनुभव - 

कोविशील्ड वैक्सीन को लेकर वैद्य हेमंत शर्मा का अनुभव - Vaidya Hemant Sharma's experience with Kovishield vaccine in Hindi 

  • दोस्तो अभी सभी जगह वैक्सिंग के नाम से बहुत अफवाह फैल रही है, इसलिए मैंने सोचा क्यों ना मैं मेरा अनुभव आपके साथ साझा करूं।
  • मैंने 29 जनवरी 2021 को दोपहर में 3:18 पर covidshield वैक्सीन का फर्स्ट डोज लिया था। 
  • उसके बाद आधे घंटे तक ऑब्जरवेशन रूम में आराम किया। 
  • तब तक कोई भी लक्षण दिखाई नहीं दिए।  
  • हमारे यहां पर बहुत सारे हेल्थ वर्कर ने वैक्सीन ली थी, किसी को कोई लक्षण नहीं दिखाई दिया (तुरंत emergency)।
  • फिर मैं शाम को 6:00 बजे घर पहुंच गया। 
  • शाम को 8:00 बजे आसपास थोड़ा बदन दर्द और सुस्ती महसूस हो रही थी इसीलिए मैंने शाम को कुछ नहीं खाया।
  • रात को 12:00 बजे अचानक पूरा शरीर कांपने लगा। 
  • और तेज बुखार आ गया साथ में सर दर्द और बदन दर्द होने लगा करवटें बदलने पर भी नींद नहीं आ रही थी। 
  • मैंने आयुर्वेदिक गिलोय और दशमूल काढ़ा लिया था। और तीन-चार कंबल ओढ़ कर सो गया।
  • रात को 3:30 बजे के आसपास बुखार कम हो गया और थोड़ा आराम मिला।
  • सुबह में थोड़ा बदन दर्द था और मंद बुखार था इसलिए मैं ड्यूटी पर नहीं गया और घर पर ही आराम करने को रहा। 
  • सुबह में थोड़ा नाश्ता लिया था और पूरे दिन में बहुत कम खाया और गरम पानी पिया।
  • दोपहर में 4:00 बजे आसपास सभी लक्षण गायब हो गए थे, और शरीर में आराम था।
  • आमतौर पर दोस्तों जब वैक्सीन कारगर होती है, तब बुखार आना, बदन दर्द होना, ठंडी लगना यह सब सामान्य है लक्षण दिखाई देते हैं। 
  • यह वैक्सीन कारगर है, उसकी निशानी है इसलिए ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं होती। 
  • अब वैक्सीन के दूसरे दिन शरीर एकदम सामान्य हो गए हैं, वही ताजगी स्फूर्ति है।
  • भारत सरकार ने Vaccine लेना स्वैच्छिक रखा है।
  • जो प्रेगनेंट हो, जो बच्चे को दूध पिलाती हो, जिन्हें और कोई गम्भीर बीमारी हो आदि अन्य लोगों को VACCINE मनाही की है। 
  • आप जब वैक्सीन लगवाने जाए तो अब अपने फैमिली डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। 
  • मेरा काम आपको सत्य बात बताना था जो मैंने बता दी है आपको सही लगे तो आप यह पोस्ट अपने मित्रों के साथ शेयर करें। 
  • लिखित - @Vd.hemant.sharma

(वैद्य हेमंत शर्मा के सोशल मीडिया वॉल से साभार) 

यह भी पढ़े ► एक्यूट पैन्क्रियाटाइटिस,इनफर्टिलिटी और ट्यूब ब्लॉक में आयुर्वेद की सफलता

Dr Pushpa

NirogStreet

Author @ NirogStreet

डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।