Home Blogs NirogStreet News कोरोना के कारण बिहार, यूपी, पंजाब, मध्यप्रदेश के सभी स्कूल बंद

कोरोना के कारण बिहार, यूपी, पंजाब, मध्यप्रदेश के सभी स्कूल बंद

By NS Desk | NirogStreet News | Posted on :   13-Mar-2020

कोरोना के कारण पंजाब के सभी स्कूल 31 मार्च तक बंद

चंडीगढ़ : देश में कोरोना वायरस महामारी फैलने की आशंका के मद्देनजर पंजाब में एहतियातन सभी सरकारी और निजी स्कूल 31 मार्च तक बंद रहेंगे। सिर्फ वे स्कूल खुले रहेंगे, जहां परीक्षाएं चल रही हैं।

राज्य के शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

मंत्री सिंगला ने राज्य में महामारी फैलने की स्थिति में लोगों से सावधानी बरतने और सतर्क रहने को कहा है।

पंजाब में अब तक एक व्यक्ति के कोराना से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। 

बिहार में एहतियातन स्कूल, कॉलेज, सिनेमा घर 31 मार्च तक बंद

पटना| कोरोनावायरस के पैर पसारते देख बिहार में स्कूल-कॉलेज 31 मार्च तक बंद कर दिए गए हैं, और बिहार दिवस के कार्यक्रम भी रद्द कर दिए गए हैं। सरकार ने सभी स्पोर्ट्स, इवेंट्स और कल्चरल इवेंट को भी रद्द कर दिया है। नीतीश मंत्रिमंडल ने शुक्रवार को हुई बैठक में इस बाबत निर्णय लिया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोनावायरस को लेकर शुक्रवार को उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक बुलाई थी। बैठक के बाद मुख्य सचिव दीपक कुमार ने ऐलान किया कि बिहार सरकार ने कोरोनावायरस को लेकर एहतियातन बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी स्कूल-कॉलेज, कोचिंग इंस्टीच्यूट, सभी सिनेमा हॉल, जू-पार्क 31 मार्च तक बंद रहेंगे। लेकिन सीबीएसई की परीक्षाएं जारी रहेंगी। वहीं सरकारी कर्मी भी अल्टरनेट तरीके से इस दौरान दफ्तर आएंगे, ताकि सरकारी दफ्तरों में भीड़ न हो।

मुख्यसचिव ने बताया कि बिहार में अब तक 60 से अधिक संदिग्धों की जांच हुई है, लेकिन किसी में भी कोरोना के संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है। वहीं, बिहार के बॉर्डर इलाकों के साथ ही बोधगया में विशेष नजर रखी जा रही है। क्योंकि वहां विदेशी पर्यटक ज्यादा आते हैं।

मुख्य सचिव ने बताया कि एहतियातन ये कदम उठाए गए हैं। वहीं उन्होंने साफ किया कि नॉनवेज पर सरकार की तरफ से कोई रोक नहीं लगाया गया है। मुख्य सचिव ने कहा कि ये फैसला 31 मार्च तक लागू रहेगा, सोमवार को फिर से इस मसले की समीक्षा की जाएगी।

कोरोना के कारण मप्र के स्कूलों में छुट्टी
भोपाल| मध्यप्रदेश में नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) एवं उससे जनित बीमारी से बचाव के लिए एहतियातन सभी शासकीय एवं निजी स्कूलों में अस्थायी रूप से अवकाश घोषित किया गया है, जो अगले आदेश तक लागू रहेगा। स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी ने शुक्रवार को आदेश जारी कर सभी स्कूलों में अवकाश का ऐलान करते हुए कहा कि कक्षा पांचवीं और आठवीं की परीक्षाएं पूर्व निर्धारित कार्यक्रम अनुसार आयोजित की जाएंगी। कक्षा 10वीं और 12वीं की वार्षिक परीक्षाओं (चाहे वे किसी भी सक्षम बोर्ड या प्रबंधन के तत्वावधान में आयोजित की जा रही हों) का आयोजन पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार किया जाएगा।

आदेश में कहा गया है कि अवकाश अवधि में समस्त शासकीय विद्यालयों में समस्त शिक्षकीय एवं गैर-शिक्षकीय स्टाफ विद्यालय में उपस्थित रहकर शासकीय और अकादमिक कार्य संपादित करेंगे। निजी विद्यालय शिक्षकीय एवं गैर-शिक्षकीय स्टाफ की विद्यालय में उपस्थिति के संबंध में अपने स्तर पर स्वविवेक से निर्णय ले सकेंगे।

कोरोनावायरस : उप्र में स्कूल, कॉलेज 22 मार्च तक बंद 
लखनऊ| उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस (कोविड-19) संक्रमण को महामारी के समकक्ष घोषित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में सभी स्कूल, कॉलेजों को 22 मार्च तक के लिए बंद करने के निर्देश जारी किए हैं। बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए योगी ने कहा, "सभी स्कूल-कॉलेजों को 22 मार्च तक बंद करने का आदेश जारी किया गया है। निर्णय पर 20 मार्च को समीक्षा के बाद आगे फैसला लिया जाएगा। हालांकि, जिन स्कूलों में परीक्षाएं चल रही हैं, वहां परीक्षा के बाद निर्णय लागू होगा।"

गौरतलब है कि इससे पहले हरियाणा और दिल्ली में इसे महामारी घोषित किया जा चुका है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, "मामले की गंभीरता को देखते हुए (इस बाबत) एडवाइजरी जारी कर दी गई थी। हमने 4,100 चिकित्सकों को कोविड-19 के बचाव को लेकर प्रशिक्षित भी किया है। हर जनपद में आइसोलेशन वार्ड स्थापित किए गए हैं। इसमें 830 बिस्तरों की व्यवस्था है। इसके अलावा 24 मेडिकल कॉलेजों में भी 448 बिस्तरों को (ऐतिहातन) सुरक्षित रखा गया है।"

योगी ने आगे कहा, "उत्तर प्रदेश में अब तक कुल 11 मामलों की पुष्टि हुई है। इसमें सात आगरा, 2 गाजियाबाद और एक-एक लखनऊ और नोएडा से सामने आया है। एक मरीज का इलाज लखनऊ के केजीएमयू में चल रहा है, वहीं अन्य सभी का उपचार दिल्ली में किया जा रहा है।"

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के साथ ही संजय गांधी पीजीआई में इसके संक्रमण के जांच की सुविधा है। इसके साथ ही लोहिया संस्थान में भी जांच हो रही है। उन्होंने कहा, "सिर्फ कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति ही मास्क लगाएं। अनावश्यक रूप से मास्क लगाकर इसको पैनिक करने से बचें।"

योगी ने आगे कहा, "इसके अलावा हमने यह तय किया है कि इससे निपटने के लिए सभी डॉक्टर और पैरामेडिक्स कोरोनावायरस संक्रमण का इलाज करने के लिए अभ्यस्त हों। सभी मेडिकल कॉलेजों में आइसोलेशन वॉर्ड बनाया जाए। प्रदेश की सभी सीमा पर पर्याप्त सर्विलांस सिस्टम लगाया जाए। सभी डीएम को राज्य की सीमाओं पर स्क्रीनिंग सेंटरों का निरीक्षण करने का आदेश दिया गया है। सभी अस्पतालों में आइसोलेशन वॉर्ड के लिए उपयुक्त किट और सुरक्षित गियर उपलब्ध कराए जाएंगे।"

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी संस्थाओं को सार्वजनिक कार्यक्रम पर रोक लगाने के निर्देश दिए हैं। खुद सरकार भी अपने 3 वर्ष के कार्यकाल के उपलक्ष में कोई ऐसा कार्यक्रम आयोजित नहीं करेगी, जिसमें जनसमूह एकत्र हो। अभी सिनेमा हॉल व सिनेप्लेक्स मालिकों को पूरी सतर्कता के साथ फिल्म शो संचालित करने के निर्देश दिए गए हैं।

प्रदेश सरकार ने कोरोना को महामारी घोषित नहीं किया है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग को एपिडेमिक एक्ट के तहत आपातस्थिति के लिए तैयार रहने को कहा है। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को इसके लिए नोटिफिकेशन जारी करने के निर्देश दिए हैं। (आईएएनएस)

NS Desk

Are you an Ayurveda doctor? Download our App from Google PlayStore now!

Download NirogStreet App for Ayurveda Doctors. Discuss cases with other doctors, share insights and experiences, read research papers and case studies. Get Free Consultation 9625991603 | 9625991607 | 8595299366

डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।