Home Blogs NIrog Tips स्वस्थ्य रहना है तो जरुरी है गहरी नींद, अच्छी नींद के 10 उपाय : वर्ल्ड स्लीप डे

स्वस्थ्य रहना है तो जरुरी है गहरी नींद, अच्छी नींद के 10 उपाय : वर्ल्ड स्लीप डे

By Ram N Kumar | NIrog Tips | Posted on :   15-Mar-2019

आज विश्व नींद दिवस (world sleep day) है और पूरे विश्व में इसे सांकेतिक तौर पर मनाया जा रहा है। नींद हमारे जीवन और स्वास्थ्य के लिए बेहद जरुरी चीज है। नींद न आने की समस्या होने पर मानसिक अस्थिरता के साथ-साथ कई शारीरिक बीमारियाँ भी शुरू हो जाती है और स्वास्थ्य के सामने गंभीर चुनौती खडी हो जाती है।

लेकिन आजकल की भागदौड़ की जिंदगी और खराब लाइफस्टाइल, मोबाइल और टीवी लगातार देखने आदि के कारण लोग अनिंद्रा / स्लीपिंग डिसऑर्डर के शिकार हो रहे हैं। इसके लिए कुछ लोग नींद की गोलियों के आदि हो जाते हैं जो आगे चलकर दूसरे तरह की दिक्कत पैदा करता है। हाल ही में एक सर्वे की रिपोर्ट में कहा गया कि मधुमेह, हृदय रोग और हाई ब्लड प्रेशर जैसी खतरनाक बीमारियां स्लीपिंग डिसऑर्डर के कारण हो सकता है। नींद न आने का सबसे ज्यादा असर दिमाग पर पड़ता है। 'स्लीप' जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार अनिंद्रा से पीड़ित लोगों देर से प्रतिक्रिया देते हैं और उनकी स्मरण शक्ति पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए गंभीर बीमारियों से बचने के लिए अच्छी नींद बेहद जरुरी है और 6 से 8 घंटे की नींद सबके लिए जरुरी है। आइये आपको बताते हैं अच्छी नींद के उपाय -

1- सोने का समय : समय पर सोना और समय पर उठना बेहद जरुरी है। इससे शरीर उसका आदि बनता है और नियत समय पर स्वाभाविक रूप से नींद आती है।

2- दिन में न सोयें : दिन में सोना रात्रि जागरण यानी अनिंद्रा का कारण बनता है। शरीर को 6 से 8 घंटे ही नींद की जरुरत होती है। दिन में सोने से रात की नींद प्रभावित होती है। इसलिए जबतक बहुत जरुरी नहीं हो, दिन में न सोयें।

3- आरामदायक और हवादार बेडरूम : सोने का कमरा हवादार होना चाहिए और उसमें क्रॉस वेंटिलेशन की व्यवस्था होनी चाहिए. बेडरूम का तापमान बहुत अधिक या बहुत कम नहीं होना चाहिए। कमरे में टीवी, लैपटॉप और मोबाईल नहीं होना चाहिए.

4- आरामदायक बिस्तर : बिस्तर आरामदायक और साफ़-सुथरा होना चाहिए. बिस्तर पर बिछी चादर धुली होनी चाहिए और संभव हो तो उसे रोज सोने के पहले बदलें.

5- नींद आने पर ही बिस्तर पर जाएं : बिस्तर पर तभी जाएं जब आपको नींद आ रही हो। पहले से जाकर लेटने से आपकी नींद में व्यवधान पड़ सकता है.

6- डिनर में हल्का भोजन : रात का भोजन सोने के दो घंटे पहले जरुर कर ले और भोजन हल्का करे. खाने में घी, तेल और मिर्च -मसाले कम होना चाहिए. इसके अलावा सोने से पहले चाय, कॉफी, शराब और धूम्रपान बिलकुल न करे.

7- भोजन के बाद टहलना : रात के भोजन के बाद धीमी गति से थोडा टहलना चाहिए. इससे अच्छी नींद के अलावा पेट भी ठीक रहता है और मोटापा का खतरा भी कम होता है.

8- शांत चित्त : सोने से जाने के पहले दिमाग शांत होना चाहिए. यदि दस तरह की चिंताएं लेकर सोने जायेंगे तो नींद नहीं आएगी. यदि नींद आ भी गयी तो बीच में ही टूट सकती है.

9- हाथ-पांव धोना : सोने से पहले अच्छी तरह से हाथ-पांव और मुंह धोना चाहिए. इससे अच्छी नींद आएगी और सकरात्मक उर्जा का संचार होगा.

10- योग और ध्यान : अच्छी नींद के लिए आप योग और ध्यान का अभ्यास प्रतिदिन कर सकते हैं. अनिंद्रा की बड़ी वजह दिमाग का भटकाव है. ध्यान लगाने से चंचल चित्त शांत होता है.

Ram N Kumar

CEO, NirogStreet & Ayurveda Expert

He is a proactive evangelist of Ayurveda whose aim is to make Ayurveda the first call of treatment

डिस्क्लेमर - लेख का उद्देश्य आपतक सिर्फ सूचना पहुँचाना है. किसी भी औषधि,थेरेपी,जड़ी-बूटी या फल का चिकित्सकीय उपयोग कृपया योग्य आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देश में ही करें।